भोपाल
आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में योग आयोग गठित करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि योग को जीवन का अभिन्न अंग बनाने के लिए प्रदेश की शालाओं में योग प्रशिक्षण आरंभ किया जाएगा। इसके लिए योग शिक्षकों की भर्ती भी की जाएगी।

लोग घर पर सरल योग का अभ्यास निरंतर कर सकें, इसके लिए भी आवश्यक व्यवस्था स्थापित की जाएगी। अंतर्राष्ट्रीय योग संस्थान, पतंजलि योग संस्थान, ईशा योग फाउंडेशन, आर्ट आॅफ लिविंग जैसी संस्थाओं से योग साधकों का सहयोग इसमें लिया जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान ने सभी प्रदेशवासियों से प्रतिदिन योग करने का आव्हान किया है।  मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि योग स्वस्थ रहने का सबसे सशक्त माध्यम है। जिसमें शारीरिक क्षमता नहीं है, वह आत्मा-परमात्मा कुछ प्राप्त नहीं कर सकता। योग से कार्यक्षमता और कर्मठता की प्रवृत्ति में वृद्धि होती है।

उन्होंने कहा कि आज भी वे निरंतर 18 घंटे बिना किसी समस्या और थकान के कार्य करने में सक्षम हैं। यह प्रतिदिन योग का ही परिणाम है। मुख्यमंत्री चौहान ने योग के आठ नियमों का उल्लेख करते हुए विद्यार्थियों से नियमित दिनचर्या, स्वास्थ्यवर्धक आहार और अच्छा आचरण तथा व्यवहार रखने की अपील की।

नरोत्तम ने जेल में, वीडी ने खजुराहो में किया योग
योग दिवस पर गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल सेंट्रल जेल में कैदियों के साथ योग किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि योग अब हमारे जीवन का हिस्सा ही नहीं अपितु जीवन जीने का तरीका बन गया है। उनके साथ जेल विभाग के अफसरों और चार हजार कैदियों ने भी अलग अलग स्थानों पर योग किया। दूसरी ओर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने मंगलवार को खजुराहो में योग दिवस पर योग किया।