नई दिल्ली
भारत के स्टार बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल इंग्लैंड के खिलाफ जारी टेस्ट सीरीज में शानदार फॉर्म में चल रहे हैं। शुरुआती तीन मैच में वह दो दोहरे शतक जड़ चुके हैं। वह इंग्लैंड के खिलाफ दो दोहरा शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। भारत और इंग्लैंड के बीच रांची में चौथा टेस्ट मैच खेला जा रहा है। इस मैच में भी यशस्वी जायसवाल के पास अपने नाम एक बड़ी उपलब्धि हासिल करने का मौका है।

यशस्वी जायसवाल ने भारत के लिए टेस्ट में 13 पारियों में 861 रन बनाए हैं। जायसवाल को टेस्ट क्रिकेट इतिहास में सबसे तेज 1000 रन पूरे करने वाले भारतीय बल्लेबाज बनने के लिए 139 रनों की जरूरत है। भारत के लिए सबसे तेज 1000 टेस्ट रन बनाने का रिकॉर्ड विनोद कांबली के नाम है, जिन्होंने 12 टेस्ट मैच की 14 पारियों में ये कारनामा किया था। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर भारत के अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा हैं, जिन्होंने 11 मैच की 18 पारियों में ये मुकाम हासिल किया। मंयक अग्रवाल, सुनील गावस्कर और संजय मांजरेकर का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है।

रांची में खेले जा रहे मैच में अगर जायसवाल एक हजार रन पूरा करने में कामयाब होते हैं तो वह 10 टेस्ट में ये उपलब्धि हासिल करने वाले पहले बल्लेबाज होंगे। टेस्ट में सबसे तेज 1000 रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड सर डोनाल्ड ब्रैडमैन के नाम है, जिन्होंने अपने सातवें टेस्ट में यह उपलब्धि हासिल की थी। हर्बर्ट सटक्लिफ (इंग्लैंड), एवर्टन वीक्स और जॉर्ज हेडली (दोनों वेस्ट इंडीज) ने नौ टेस्ट में 1000 रन पूरे किए हैं। जायसवाल अपने आठवें टेस्ट में यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी होंगे और टेस्ट में सबसे तेज 1000 रन पूरा करने के मामले में ब्रैडमैन के बाद दूसरे खिलाड़ी होंगे।