उदयपुर
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो भीलवाड़ा की टीम ने बुधवार को राजसमंद जिले की भीम स्थित सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशासी अधिकारी एक्सईएन और दलाल को दो लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। यह राशि एक्सईएन ने सड़क निर्माण के एक ठेकेदार से दलाल के जरिए ली थी।

मिली जानकारी के अनुसार सड़क निर्माण के ठेकेदार ने भीम स्थित सार्वजनिक निर्माण विभाग के एक्सईएन केशराम मीणा के खिलाफ पांच लाख रुपए की रिश्वत मांगे जाने की शिकायत की थी। जिसमें बताया कि उसने भीम क्षेत्र में 2018 मेें डीएमएफटी योजना के तहत सड़क निर्माण एवं डामरीकरण का कार्य कराया था। जिसका 98 लाख रुपए का बिल पास करने के एवज में एक्सईएन पांच लाख रुपए रिश्वत की मांग कर रहे हैं। उसने एक करोड़ सोलह लाख रुपए का बिल दिया अधिशासी अभियंता कार्यालय में पेश किया था, जिसमें से अठारह लाख रुपए का भुगतान कर दिया था, जबकि 98 लाख रुपए बकाया चल रहे थे। इस राशि का भुगतान के एवज में मांगे पांच लाख रुपए में से एक लाख रुपए पहले ही ले लिए और बाकी चार लाख रुपए दलाल के जरिए दो किश्तों में मांगी।

बुधवार को एक्सईएन ने दो लाख रुपए लेकर परिवादी को अपने सरकारी आवास पर बुलाया। जहां केशराम ने अपने दलाल गोपाल सिंह रावत के जरिए दो लाख रुपए की रिश्वत ली। रावत ने यह राशि एक्सईएन मीणा को दी और उसे अपने पास रख लिया। पहले से सतर्क ब्यूरो टीम ने आरोपी एक्सईएन और उसके लिए दलाली करने वाले गोपाल सिंह रावत को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।