वॉशिंगटन
शूटिंग की वारदातों को रोकने के लिए अमेरिकी सीनेट में गन कंट्रोल को लेकर काफी अहम बिल पास कर दिया गया है। इस बिल को पास करने के लिए अमेरिका में पिछले कई सालों से मांग की जा रही थी, लेकिन गल लॉबी की वजह से इस बिल को पास नहीं किया जा रहा था, लेकिन अब सीनेट से पास करवाने के बाद गन कंट्रोल बिल को अब पास करने के लिए अमेरिकी संसद में भेजा जाएगा।

 सीनेट में पास गन कंट्रोल बिल अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद भी, कि सार्वजनिक जगहों पर बंदूक लेकर जाना लोगों का अधिकार है, अमेरिकी सीनेट में बंदूक को लेकर बिल पास कर दिया गया है। अमेरिकी संसद में अब इस बिल को भेजा जाएगा, जहां संसद की स्पीकर नैन्सी पॉलिसी लगातार बिल के समर्थन में बात कर रही हैं। वहीं, अमेरिकी संसद में चूंकी डेमोक्रेटिक सांसदों की संख्या ज्यादा है, लिहाजा माना जा रहा है कि, काफी आसानी से बंदूक पर लाए गये इस बिल को पास करा लिया जाएगा। हालांकि, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस बिल का विरोध कर चुके हैं, लिहाजा पूरी संभालना है कि, रिपब्लिकन पार्टी संसद में इस बिल के खिलाफ में मतदान करे।

क्या है गन कंट्रोल बिल?
अमेरिकी सीनेट के अंदर 65-33 के बहुमत से गन कंट्रोल बिल को पास किया गया है और पिछले 30 सालों में ये पहला मौका है, जब किसी बंदूक नियंत्रण कानून को इतने ज्यादा समर्थन से पास किया गया है। आपको बता दें कि, अमेरिका में प्रति व्यक्ति सबसे ज्यादा बंदूक रखने का रिकॉर्ड है और सामूहिक गोलीबारी में हर साल सैकड़ों अमेरिकियों की मौत हो जाती है। पिछले दिनो टेक्सास स्कूल में हुई फायरिंग में, जिसमें 19 छात्र और दो शिक्षकों की मौत हो गई थी, उसके बाद बंदूक नियंत्रण कानून बनाने की काफी तेज मांग उठी थी और अब अमेरिकी सीनेट ने गन कंट्रोल कानून को पास कर दिया है। बिल पास होने पर बाइडेन ने जताई खुशी वहीं, सीनेट में बिल पास होने के बाद राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुशी जताई है और उन्होंने कहा कि, "यह द्विदलीय कानून अमेरिकियों की रक्षा करने में मदद करेगा।

स्कूलों और समुदायों में बच्चे इसकी वजह से सुरक्षित रहेंगे'। उन्होंने कहा कि, "प्रतिनिधि सभा को इस द्विदलीय विधेयक पर तुरंत मतदान करना चाहिए और इसे मेरे टेबल पर भेजना चाहिए।" हालांकि, इस बिल में वो तमाम बातें नहीं हैं, जिसकी बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन करते रहे हैं, लेकिन कई बातों को शामिल किया गया है औक माना जा रहा है, संसद में बिल पास होने के बाद राष्ट्रपति बाइडेन फौरन इस बिल पर साइन कर देंगे और ये बिल कानून बन जाएगा। अमेरिकी में हथियार स्वाधीनता आपको बता दें कि, अमेरिका में अभी तक हथियार रखना लोगों का अधिकार और अमेरिकी की स्वाधीनता को बनाए रखने का जरिया माना जाता है।

 अमेरिका में जब 1791 में संविधान का दूसरा संशोधन हुआ था, उसी वक्त लोगों को हथियार रखने का अधिकार दे दिया गया। अमेरिकी संविधान में कहा गया है कि, देश की स्वाधीनता को सुरक्षित रखने के लिए नागरिकों का हथियार रखना और उसे चलाना उनका अधिकार है। लिहाजा, अमेरिकी संविधान के मुताबिक, 18 साल की उम्र से ज्यादा के लोगों को अपने पास हथियार रखना और उसे सार्वजनिक जगहों पर ले जाने का अधिकार है, शर्त बस इतना है, कि वो मानसिक तौर पर बीमार ना हों।