नई दिल्ली
 महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने अपना कार्यकाल पूरा करने और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ गठबंधन में अगला चुनाव जीतने का शनिवार को भरोसा जताया। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए शिंदे ने कहा कि महाराष्ट्र मंत्रिपरिषद के विस्तार के बारे में निर्णय अगले सप्ताह मुंबई में लिया जाएगा।

 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस दिल्ली में हैं। दोनों नेताओं ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। यह महाराष्ट्र में शिंदे के नेतृत्व में महाराष्ट्र में सरकार बनने के बाद उनकी प्रधानमंत्री के साथ पहली बैठक है। शिंदे और फडणवीस ने प्रधानमंत्री से उनके लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास में मुलाकात की और महाराष्ट्र के विकास के लिए उनका ‘आशीर्वाद एवं मार्गदर्शन’ मांगा। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।’

एकनाथ शिंदे 30 जून को बने थे महाराष्ट्र के सीएम
महाराष्ट्र में सियासी घमासान और शिवसेना में फूट के बाद शिंदे और फडणवीस ने 30 जून को राज्य में सत्ता की कमान संभाली थी। इसके पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था। महाराष्ट्र के दोनों नेताओं ने शुक्रवार रात गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। उन्होंने भाजपा और शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना के बागी गुट के बीच सत्ता साझेदारी के फार्मूले पर चर्चा की।

बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से भी की मुलाकात
शुक्रवार रात राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे शिंदे और फडणवीस ने शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की। इससे पहले, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ चर्चा की, जिसमें सत्ता साझेदारी की व्यापक रूपरेखा को अंतिम रूप दिया गया। शिंदे ने अपने पूर्ववर्ती उद्धव ठाकरे के मध्यावधि चुनाव कराने के आह्वान को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि राज्य सरकार मजबूत है और 288 सदस्यीय विधानसभा में उसे 164 विधायकों का समर्थन है, जबकि विपक्ष के पास सिर्फ 99 विधायक हैं।

कॉन्फ्रेंस में जब फडणवीस से उपमुख्यमंत्री पद पर उनकी ‘पदावनति’ को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं के नाखुश होने के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि इसके विपरीत पार्टी कार्यकर्ता खुश हैं कि 2019 में उनके साथ हुए अन्याय को सुधारा गया है। फडणवीस ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता खुश हैं क्योंकि स्वाभाविक सहयोगी भाजपा और शिवसेना ने महा विकास आघाड़ी (एमवीए) गठबंधन को हटाकर सरकार बनाई है। फडणवीस ने कहा, ‘यह बिल्कुल स्पष्ट है। मुख्यमंत्री नेता हैं। हम इस सरकार को सफल बनाने की दिशा में काम करेंगे।’