वाशिंगटन

माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर ने दुनिया के सबसे अमीर आदमी एलन मस्क (Elon Musk) के खिलाफ मुकदमा कर दिया है। अमेरिका की डेलावेयर कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है। रॉयटर्स के मुताबिक, याचिका में एलन मस्क पर 44 अरब डॉलर में ट्विटर को खरीदने की सौदे की शर्तों के उल्लंघन का आरोप लगाया गया है। कंपनी ने कोर्ट से कहा गया है कि मस्क को 54.20 डॉलर प्रति शेयर के पूर्व समझौते पर सौदा पूरा करने का आदेश दिया जाए। बता दें कि एलन मस्क ने आरोप लगाया था कि ट्विटर ने उनको इस बात की जानकारी नहीं दी थी कि ट्विटर पर कितने फर्जी और स्पैम अकाउंट हैं। एक्सपर्ट्स का मानना है कि ये मामला वॉल स्ट्रीट के इतिहास के सबसे बड़े मुकदमों में से एक साबित हो सकता है।

ट्विटर ने कहा- एलन ने उड़ाई गईं नियमों की धज्जियां
ट्विटर ने याचिका में एलन मस्क के खिलाफ विलय समझौता तोड़ने की लंबी लिस्ट कोर्ट में पेश की है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर ने याचिका में कहा है कि टेस्ला के सीईओ समझते हैं कि वह जब चाहें अपना फैसला बदल सकते है। ऐसा कर वे कंपनी को बर्बाद कर सकते हैं और उसका संचालन ठप कर सकते हैं।

कंपनी छोड़कर जाने वाले कर्मचारियों की संख्या बढ़ी
ट्विटर ने कोर्ट में कहा कि उसने मस्क के साथ स्पैम अकाउंट्स को लेकर ज्यादा जानकारी इसलिए नहीं दी, क्योंकि उसे डर था कि कहीं वह विलय छोड़कर कंपटीशन में कोई दूसरा प्लैटफॉर्म न खड़ा कर दें। इसके साथ ही मस्क पर जनवरी और मार्च के बीच गुप्त रूप से कंपनी के शेयरों को खरीदने का भी आरोप लगाया। ट्विटर ने बताया कि इस सौदे की घोषणा के बाद कई कर्मचारियों ने कंपनी छोड़ दी।

आपको बता दें कि इस साल अप्रैल में मस्क ने ट्विटर के साथ 54.20 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से लगभग 44 अरब डॉलर के लेनदेन में अधिग्रहण समझौता किया। हालांकि, मस्क ने मई में अपनी टीम को ट्विटर के इस दावे की सत्यता की समीक्षा करने की अनुमति देने के लिए सौदे को रोक दिया कि प्लेटफॉर्म पर 5% से कम खाते बॉट या स्पैम हैं।