लंदन

विम्बलडन 2022 चैम्पियनशिप में महिला एकल का फाइनल मुकाबला तय हो गया है. शनिवार को होने वाले फाइनल में एलेना रिबाकिना का सामना ओन्स जेब्युर  से होगा. ट्यूनीशियाई खिलाड़ी ओन्स जेब्युर ने जहां सेमीफाइनल मुकाबले में तात्जाना मारिया को 6-2, 3-6, 6-1 हराया. वहीं कजाकस्तान की रिबाकिना ने 2019 की चैम्पियन सिमोना हालेप को 6-3, 6-3 से मात दी.

जेब्युर ने रच दिया इतिहास

तीसरी सीड जेब्युर ओपन एरा में ग्रैंड स्लैम फाइनल में पहुंचने वाली पहली ट्यूनीशियाई, पहली अरब और पहली अफ्रीकी महिला बन प्लेयर हैं. 2020 के फरवरी में शीर्ष 50 में पहुंचने के बाद से वह अपने देश और क्षेत्र के लिए रिकॉर्ड बना रही है. अपने पिछले 24 मैचों में से 22 में जीत हासिल करने के बाद 27 वर्षीय जेब्युर ने खुद को अब सबसे बड़ी उपलब्धि हासिल करने का मौका दिया है.

नडाल सेमीफाइनल से बाहर

पुरुष एकल की बात करें तो पहले सेमीफाइनल में शीर्ष वरीयता नोवाक जोकोविच का सामना कैमरन नूरी से होगा. वहीं दूसरे सेमीफाइनल में राफेल नडाल का सामना निक किर्गियोस से होना था नडाल ने पेट में इंजरी के चलते सेमीफाइनल मुकाबले से अपना नाम वापस ले लिया है. ऐसे में निक किर्गियोस बिना मुकाबला खेले ही फाइनल में पहुंच गए हैं.

रिबाकिना भी पहली बार फाइनल में

जेब्युर  से पहले डब्ल्यूटीए रैंकिंग के शीर्ष 100 में पहुंचने वाली एकमात्र ट्यूनीशियाई सेलिमा स्फार थीं, जो जुलाई 2001 में 75वें नंबर पर पहुंची थीं. उधर , 17वीं वरीयता हासिल एलेना रिबाकिना भी पहली बार ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंची हैं. हालेप सेमीफाइनल मुकाबले से पहले एक भी सेट नहीं हारी थीं, लेकिन रिबाकिना की पावर हिटिंग का उनके पास जवाब नहीं था.