भोपाल
इस वर्ष राज्य पुलिस सेवा (एसपीएस) के दस की जगह पर 15 अफसरों को आईपीएस अवार्ड होगा। पहले यह माना जा रहा था कि एक  जनवरी 2022 की स्थिति में दस अफसरों को ही आईपीएस अवार्ड होगा, लेकिन अब यह संख्या बढ़कर 15 होने वाली है। एसपीएस का वर्ष 1996 का बैच पूरा आईपीएस बन जाएगा, जबकि 1997 बैच के भी कुछ अफसर आईपीएस बन जाएंगे। इस संबंध में जल्द ही प्रस्ताव तैयार होकर केंद्र को भेजा जाएगा।

 दरअसल हाल ही में हुए आईपीएस कॉडर रिव्यू में राज्य पुलिस सेवा के अफसरों को आईपीएस बनाने के लिए पांच पद मिले हैं। कॉडर रिव्यू नहीं होने की स्थिति में इस साल दस अफसरों को ही आईपीएस मिलना था, लेकिन अब संख्या बढ़ गई हैं। ऐसे में वर्ष 1996 बैच के बचे हुए 9 अफसर पदोन्नत होकर आईपीएस बन जाएंगे। जबकि 1997 बैच के आधा दर्जन अफसर भी कॉडर रिव्यू के बाद अब इसी साल आईपीएस बन सकेंगे।

सूत्रों की मानी जाए तो वर्ष 1997 बैच के कुछ अफसर आईपीएस होने से इस वर्ष चूक सकते हैं। इस बैच के एक अफसर एक जांच के घेरे में हैं, जबकि एक अन्य अफसर का भी विवाद चल रहा है।

इन अफसरों को मिल सकता है आईपीएस
वर्ष 1996 बैच के राज्य पुलिस सेवा के अफसर जो इस साल आईपीएस बन सकते हैं उनमें विनोद कुमार सिंह, मनीष खत्री, राजेश कुमार त्रिपाठी, सुनील कुमार मेहता, देवेंद्र कुमार पाटीदार, वीरेंद्र जैन, राय सिंह नरवरिया, रामशरण प्रजापति, सुंदर सिंह कनेश को आईपीएस बनाया जा सकता है। वहीं वर्ष 1997 बैच के 6 अफसरों को आईपीएस बनाया जा सकता है।

जल्द तैयार होगा प्रस्ताव
बताया जाता है कि कॉडर रिव्यू से पहले दस अफसरों को आईपीएस दिए जाने को लेकर प्रस्ताव बनाया जा रहा था, जिसमें तीस अफसरों की जानकारी अपडेट की गई थी, लेकिन अब 15 अफसरों को आईपीएस बनाया जाना हैं। ऐसे में अब 45 अफसरों की जानकारी अपडेट की जा रही है। इस जानकारी के अपडेट होते ही प्रस्ताव बनाया जाएगा।