भोपाल

जिला पंचायत के चुनाव में भाजपा अब तेजी से बढ़त की ओर बढ़ती दिख रही है। तीसरे और अंतिम चरण में हुए 92 विकासखंड़ों के मतदान के बाद हुई मतगणना के सामने आ रहे रुझान में इस बार भाजपा समर्थित उम्मीदवार कई वार्डो से आगे चल रहे हैं। हालांकि इन सब के परिणामों की अधिकृत घोषणा 15 जुलाई को की जाएगी। इसके बाद स्थिति एक दम स्पष्ट हो जाएगी।

दूसरी ओर जनपद पंचायत चुनाव में मंत्री बिसाहूलाल सिंह की बहू ममता सिंह चुनाव हार गई हैं, वे अनूपुर जनपद की अध्यक्ष थीं। वहीं बिसाहू के पुत्र ने चुनाव में जीत दर्ज की है।

शुक्रवार को पंचायत चुनाव के अंतिम चरण के हुए मतदान के बाद शुरू हुई मतगणना अभी कई स्थानों पर चल रही है। जबकि कुछ स्थानों पर मतगणना पूरी हो चुकी है। जिस स्थानों पर पूरी हो चुकी है। उसमें सामने आ रहे रुझानों से भाजपा समर्थित या भाजपा से जुड़े हुए उम्मीदवार बड़ी संख्या में जीत कर आ रहे हैं। विदिशा, सीहोर, राजगढ़, खरगौन, खंडवा, धार, अलीराजपुर से सामने आए रुझानों में भाजपा ने तीसरे चरण में बढ़त बना ली है। इन जिलों में भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष बनना लगभग तय माना जा रहा है। बाकी जिलों में शाम तक और रुझान सामने आएंगे।

शाम तक साफ होगी तस्वीर, फिर अध्यक्ष की जोड़तोड़
आज शाम तक स्थिति स्पष्ट होने के बाद भाजपा और कांग्रेस अपने-अपने जिला अध्यक्ष बनाने के लिए जिला पंचायत सदस्यों के बीच में लॉबिंग शुरू कर देंगे। जिला पंचायत का अध्यक्ष अपने-अपने दल का बनवाने के लिए दोनों ही दलों के दिग्गज नेता भी इसमें हस्तक्षेप करेंगे। महैर विधायक नारायण तिवारी के बेटे ने जनपद पंचायत के चुनाव में जीत दर्ज की है। रतलाम में भाजपा से आरती पवन जाट, सत्यनारायण पाटीदार, नाथुलाल गांवड्, लीला गोपाल मुनिया, रुकमणि मालवीय, रानी पीतलिया, निर्मला गोपाल सिंह ने चुनाव जीत लिया है।