कोलंबो

 

भारत के पड़ोसी मुल्क श्रीलंका में हालात काफी गंभीर हो गए हैं. आर्थिक तंगी से आजिज आकर शनिवार को प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति भवन तक पहुंच गए हैं, जिसके बाद प्रेसिडेंट गोटबाया राजपक्षे आवास छोड़कर भाग गए. खराब हालात का असर कोलंबो, गॉल समेत लगभग सभी शहरों में दिखाई दे रहा है. श्रीलंका के दिग्गज क्रिकेटर्स भी देश के लोगों के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं.

पूर्व कप्तान कुमार संगकारा ने प्रदर्शन कर रहे लोगों का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, 'यह हमारे भविष्य के लिए है.' संगकारा के टीममेट महेला जयवर्धने ने भी उनके इस ट्वीट को रीट्वीट किया. जयवर्धने ने एक अन्य ट्वीट में #GoHomeGota का प्रयोग करते हुए गोटाबाया राजपक्षे को पद छोड़ने की सलाह दी है.

पूर्व श्रीलंकाई कप्तान सनथ जयासूर्या तो प्रदर्शनकारियों के सपोर्ट में सड़क पर उतर आए है. कोलंबो में राष्ट्रपति भवन के पास जहां प्रदर्शनकारियों की भीड़ लगी हुई है, वहां सनथ जयसूर्या भी पहुंच गए. जयसूर्या ने इसे लेकर कुछ फोटो भी शेयर किए हैं.

गॉल टेस्ट में भी प्रदर्शनकारियों का जमावड़ा

गॉल में ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे टेस्ट मैच में भी प्रदर्शनकारियों को देखा गया है. प्रदर्शनकारियों ने स्टेडियम के बाहर और अंदर पोस्टर लहराकर मौजूदा हालात को लेकर अपनी आवाजें बुलंद की है. हालांकि, इन सब चीजों का मैच पर कोई असर नहीं पड़ा और दोनों टीमों के बीच मैच बदस्तूर जारी है.

प्रधानमंत्री ने बुलाई आपात बैठक

पूरे घटनाक्रम पर श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की पैनी नजरें हैं. विक्रमसिंघे ने हालात पर चर्चा करने और इस संकट के त्वरित निवारण के लिए पार्टी नेताओं के साथ आपात बैठक कर रहे हैं. साथ ही विक्रमसिंघे ने स्पीकर से संसद सत्र बुलाने की अपील की है. उधर गोटाबाया राजपक्षे पर पद छोड़ने का भी दबाव बढ़ गया है. श्रीलंका पोदुजाना पेरामुना (SLPP) पार्टी के 16 सांसदों ने पत्र लिखकर गोटबाया राजपक्षे से तत्काल इस्तीफा देने का अनुरोध किया है.