इंग्लैंड।
 
ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक और स्वास्थ्य सचिव साजिद जाविद ने मंगलवार को प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की सरकार को संकट में डालते हुए अपना-अपना इस्तीफा दे दिया। सुनक ने अपने पत्र में कहा कि वह सरकार छोड़ने से दुखी हैं, लेकिन हम इस तरह से जारी नहीं रख सकते हैं। ऋषि सुनक ने अपने त्याग पत्र में कहा, "जनता उम्मीद करती है कि सरकार सही ढंग से, सक्षम और गंभीरता से संचालित होगी। मैं मानता हूं कि यह मेरा आखिरी मंत्री पद हो सकता है, लेकिन मेरे इस्तीफे का कारण जायज है। इसलिए मैं इस्तीफा दे रहा हूं।" जाविद ने कहा कि उन्होंने घोटालों की एक श्रृंखला के बाद जॉनसन की राष्ट्रीय हित में शासन करने की क्षमता पर विश्वास खो दिया है। उन्होंने कहा कि कई सांसदों और जनता ने जॉनसन की राष्ट्रीय हित में शासन करने की क्षमता पर विश्वास खो दिया था। जाविद ने मिस्टर जॉनसन को लिखे एक पत्र में कहा, "मुझे यह कहते हुए खेद है। यह स्थिति आपके नेतृत्व में नहीं बदलेगी। आपने मेरा आत्मविश्वास भी खो दिया है।"

मंत्री पद से हटना जॉनसन के नेतृत्व के लिए एक बड़ा झटका है। एक पूर्व सिविल सेवक ने डाउनिंग स्ट्रीट के हाल ही में निलंबित सांसद क्रिस पिंचर के खिलाफ आरोपों से निपटने की बात कही थी। बोरिस जॉनसन ने कहा कि उन्हें उनके खिलाफ भ्रष्टाटार की शिकायत से अवगत कराए जाने के बाद मिस्टर पिंचर को उप मुख्य सचेतक के रूप में एक सरकारी भूमिका देने का कड़ा अफसोस है। उन्होंने कहा, "आखिरकार ऐसा करना गलत था और मैं उन सभी से माफी मांगता हूं जो इससे बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। मैं बिल्कुल स्पष्ट करना चाहता हूं कि इस सरकार में किसी के लिए कोई जगह नहीं है जो हिंसक है या सत्ता की अपनी स्थिति का दुरुपयोग करता है।"

आपको बता दें कि ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद के इस्तीफे के तत्काल बाद भारतवंशी ब्रिटिश मंत्री सुनक ने ट्विटर पर अपना त्यागपत्र साझा किया। मंत्रियों का इस्तीफा जॉनसन के नेतृत्व के लिए बड़ा झटका साबित होगा। इससे पहले एक पूर्व नौकरशाह ने हाल में निलंबित सांसद क्रिस पिंचर के खिलाफ आरोपों से निपटने के 'डाउनिंग स्ट्रीट' के तरीके को लेकर टिप्पणी की थी।