जमुई

बिहार के जमुई में सोने की जानकारी मिलने के बाद अब राज्य के कई जिलों में बड़े पैमाने पर अन्य खनिजों के भंडार का पता चला है। सरकार का दावा है कि जमुई सहित औरंगाबाद, नवादा और कई अन्य जिलों में बड़े पैमाने पर निकल, पोटाश, क्रोमियम के भंडार मिले हैं। वहीं सरकार जल्द ही इनका खनन शुरू करा सकती है। बहुत जल्द नीतीश सरकार सोने के साथ ही क्रोमियम और पोटेशियम के खनिज ब्लॉकों का खनन शुरू करेगी। टेंडर के लिए आगे की प्रक्रिया शुरू है।

बिहार के खनन एवं भूतत्व मंत्री जनक राम ने बताया, "जमुई, औरंगाबाद, नवादा सहित कई जिलों में बड़े पैमाने पर निकल, पोटाश, क्रोमियम और सोने के भंडार मिले हैं, जिसका खनन जल्द शुरू होने वाला है। तीन ब्लॉक पोटाश और एक ब्लॉक क्रोमियम निकल का पाया गया है। वहीं जमुई के सोनो प्रखंड में सोना और औरंगाबाद में क्रोमियम के भंडार मिले हैं। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के द्वारा जल्द ही इसका खनन शुरू किया जाएगा।"

दरअसल, हाल ही में केंद्रीय खान मंत्रालय ने बिहार को चार खनिज ब्लॉक सौंपे हैं। ये खदानें क्रोमियम और पोटैशियम की हैं। ये खदानें सासाराम, रोहतास, गया और औरंगाबाद जिलों में स्थित हैं। केंद्रीय कोयला एवं खनन मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बिहार के खान एवं भूविज्ञान मंत्री जनक राम को खनिज सर्वेक्षण के दस्तावेज सौंपे। तब केंद्र ने 14 राज्यों को विभिन्न खनिजों के 100 ब्लॉक सौंपे और उनसे जल्द से जल्द नीलामी करने का आग्रह किया।