उज्जैन
मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव खत्म होने के बाद 'मामा' के बुलडोजर ने गरजना शुरू कर दिया है। यहां अवैध निर्माण को जमींदोज करने का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। उज्जैन में पुलिस प्रशासन और नगर निगम की संयुक्त टीम ने गुरुवार को शहर के सटोरिये जयेश के अवैध निर्माण पर जेसीबी चलाई। जयेश के अवैध निर्माणों को तोड़ने की कार्रवाई के दौरान भारी पुलिस बल के साथ नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची थी।

सट्टे का बड़ा कारोबारी है जयेश
उज्जैन शहर में जयेश आहूजा ऑनलाइन क्रिकेट का सट्टा संचालित करता है और साथ ही वो पर्ची सट्टा का भी बड़ा कारोबार करता है। पुलिस ने कुछ दिन पूर्व खारा कुआं थाना अंतर्गत जयेश को एक महंगी गाड़ी में ऑनलाइन क्रिकेट का सट्टा करते पकड़ा था। वही जयेश के पास ऑनलाइन सट्टा करने वाली मशीन जिसमें एक साथ 50 मोबाइल अटैच होते थे पुलिस ने जब्त किया था। साथ ही पुलिस ने 20 हज़ार रुपये कैश के साथ करोड़ों रुपये के हिसाब-किताब की डायरी भी जब्त की थी। वहीं पुलिस को जयेश के ऑनलाइन सट्टा में प्रदेश के बाहर लिंक होने का भी पता चला है।

पूर्व में हुई सटोरियों पर कार्रवाई
ऑनलाइन क्रिकेट के सटोरिया रवि पमनानी के तीन से चार अवैध मकानों को पुलिस और नगर निगम की टीम पहले ध्वस्त कर चुकी है। गौरतलब है कि पूर्व में जीवाजी गंज थाना क्षेत्र के गीता कॉलोनी में दबिश देकर क्रिकेट का ऑनलाइन सट्टा संचालित करने वाले रवि पमनानी के साथियों को हिरासत में लिया गया था।  कार्रवाई के दौरान रवि पमनानी मौके का फायदा उठाकर भाग खड़ा हुआ था। आरोपी अब तक फरार है। पुलिस ने कार्रवाई के दौरान करोड़ों रुपये का सोना,चांदी डायमंड नेकलेस और लाखों रुपये नगद बरामद किये थे। पुलिस ने 11 अवैध निर्माणों को चिन्हित किया था। उसमें से रवि पमनानी के भी तीन मकानों को पुलिस ध्वस्त कर चुकी है। पुलिस ने नगर निगम से आरोपियों की अवैध संपत्तियों के रिकॉर्ड मंगाए थे। उसके बाद आज जयेश के इस मकान को ध्वस्त किया गया है। जयेश के अन्य प्रदेशों से भी लिंक मिले हैं। फिलहाल अभी वह जेल में है।