वाराणसी
बड़ागांव थाना क्षेत्र के करमपुर गांव में पिछले दिनों अपने घर में सोते समय एक महिला के सिर कूंच कर हत्या कर दी गई थी। मृतका के परिजनों ने हत्या का आरोप उसके पति तारकेश्वर और तारकेश्वर की रिश्ते मैं साली लगने वाली युवती के ऊपर लगाया था। इस मामले में दोनों आरोपियों को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया और न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। इस मामले को लेकर गांव में तरह-तरह की चर्चा चल रही है।
 
ईंट से कूंचकर किया था हत्‍या
बड़ागांव थाना क्षेत्र के करमपुर गांव निवासी तारकेश्वर मिश्रा की शादी 19 साल पहले मंगारी की रहने वाली गुंजा मिश्रा (37) के साथ हुई थी। तारकेश्वर के दो बेटे भी हैं। तारकेश्वर मुरादाबाद एपीआई में नौकरी करता था और छुट्टी लेकर दो महीने से अपने घर पर ही रह रहा था। इसी दौरान उसकी मुलाकात गांव के रहने वाले संदीप मिश्रा की साली सुहानी मिश्रा से हुई। तारकेश्वर सुहानी से प्यार करने लगा। मंगलवार की रात्रि में तारकेश्वर और उसकी पत्नी गुंजा मिश्रा अपने कमरे में सोए थे जबकि उसके बेटे और अन्य लोग बारामदे में सोए थे। बुधवार की सुबह में गुंजा की लाश उसके कमरे में मिली, उसके मुंह, नाक और कान से खून निकल रहा था। इस मामले में तारकेश्वर के परिजनों तारकेश्वर और सुहानी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

सुहानी संग रिश्ते को लेकर गुंजा रहती थी नाराज
सुहानी और तारकेश्वर के संबंधों की जानकारी गुंजा को हो गई थी। गुंजा तारकेश्वर को सुहानी से मिलने पर नाराजगी भी जताती थी। इसे लेकर गुंजा और तारकेश्वर में कई बार विवाद भी हुआ था। गुंजा को लगता था कि सुहानी ने जादू टोंना करके उसके पति को फंसा लिया है। इसी के चलते गुंजा झाड़ फूंक करवाने के लिए भी प्रयास करती थी। कुछ दिन पूर्व पति और बच्चों के संग वह एक बाबा के यहां भी गई थी।

इस बारे में इंस्पेक्टर बड़ागांव अश्विनी कुमार चतुर्वेदी से बात किया गया तो उन्‍होंने कहा कि इस मामले में मुकदमा दर्ज करने के बाद से ही पुलिस तारकेश्वर और सुहानी की तलाश कर रही थी। दोनों वाराणसी छोड़ कर दूसरे शहर में भागने की फिराक में थे। शनिवार को मुखबिर से सूचना मिलने के बाद बड़ागांव पुलिस नदेसर गई और वहां से तारकेश्वर और सुहानी को गिरफ्तार कर लिया गया।