सागर
Sagar Serial Killer: मध्‍य प्रदेश के सागर के खुराई रोड स्थित सांची ट्रैक्टर चौकीदार हल्लू साहू उस समय जाग रहा था इसलिए उसकी जान बच गई। चौकीदार के मुताबिक 30 अगस्त को रात 12 से 1 बजे के बीच वह शोरूम के अंदर लेटा हुआ था। हल्‍लू साहू ने बाहर गायों को लड़ते देखा तो वो शोरूम के शीशे का गेट खोल बाहर आ गया और गायों को भगाने लगा।

कैमरा देख साइड में हो गया
चौकीदार ने बताया कि इस बीच मैंने देखा कि सफेद शर्ट और पैंट में एक युवक मेरे पास खड़ा था। उसने बीड़ी पीने के लिए कहा लेकिन मैंने नजरअंदाज कर दिया, उसने दोबारा बीड़ी मांगी। मैंने उससे कहा कि गेट के पास आ इस पर वो इधर-उधर कैमरे की ओर देखने लगा और साइड में हो गया।

 

रात में सोने वालों पर आता है गुस्‍सा
वह इससे पहले भी यहां आ चुका था और रात में कुछ देर यहां ठहरने के बाद उससे बीड़ी लेकर पी चुका था।उसने बीड़ी पीते हुए मुझसे कहा कि दाऊ, मुझे उन पर गुस्सा आता है जो रात को सोते हैं। इस पर मैंनें पूछा क्‍यों तो वो कुछ नहीं बोला। इसके बाद वह मेन रोड से ठाकुर बाबा मंदिर की ओर चला गया।

 

रात में वो अकेला नहीं था
पुलिस से बातचीत के दौरा शोरूम के चौकीदार ने कहा कि वे रात के समय अकेला नहीं था। उसके साथ एक ओर व्‍यक्ति भी था लेकिन वो कौन था उन्‍हें मैं नहीं जानता। उसने बताया था कि वह ठाकुर बाबा की ओर ही उसका घर था। पुलिस अधीक्षक तरूण नायक का कहना है कि वह अकेले ही घटनाओं को अंजाम देता था। वह सागर में राधा टाकीज के करीब एक धर्मशाला में रह रहा था और हत्‍या करने के बाद भोपाल लौट गया था। हत्‍यारे को पकड़ने के लिए पुलिस अधीक्षक तरुण नायक द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह, नगर पुलिस अधीक्षक मकरोनिया निकिता गोगुलवा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ज्योति सिंह, नगर पुलिस अधीक्षक प्रवीण अस्थाना, के मार्गदर्शन में टीम बनायी गई थी।