भोपाल
नगरीय निकाय के दूसरे चरण के परिणाम में भाजपा ने नगरपालिका और नगर परिषदों में अपनी जड़ें मजबूत की हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र बुधनी में कांग्रेस को सिर्फ एक पार्षद मिला है और 14 बीजेपी के खाते में गए हैं, वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा के चौरई नगर परिषद में भी बीजेपी 15 में से 9 पार्षद जीतने में सफल रही है। यहां कांग्रेस के चार पार्षद ही जीत सके हैं।

नगर निकाय चुनाव के अंतिम चरण की मतगणना में जो परिणाम सामने आए हैं, उसके अनुसार मैहर नगरपालिका में 11 पार्षद बीजेपी और 6 कांग्रेस के जीते हैं। यहां 6 निर्दलीय व एक बीएसपी कैंडिडेट जीता है। इसी जिले की नगर परिषद रामपुर बघेलान में बीजेपी को 11, कांग्रेस को 2, कोटर में भाजपा 10, कांग्रेस एक, नागौद में बीजेपी पांच, कांग्रेस छह व चार अन्य और अमरपाटन में भाजपा 6, कांग्रेस 8 व रामनगर नगर परिषद में बीजेपी 9 और कांग्रेस पांच पार्षद जीतने में सफल रही है।

यहां बीजेपी का विजय अभियान
खंडवा जिले के पंधाना नगर परिषद में 15 वार्डो में 11 में भाजपा और 4 कांग्रेस को जीत मिली। टीकमगढ़ जिले के बड़ागाँव धसान नगर परिषद में भाजपा 7, कांग्रेस 3 व  निर्दलीय 4 जीते हैं। बिछुआ नगर परिषद में भाजपा 12 वार्डो में जीती और कांग्रेस को एक ही पार्षद मिला है। नगर परिषद न्यूटन कुल वार्ड 15 में  कांग्रेस 9, भाजपा 6 में जीती है।  मैहर नगर पालिका में कुल 24 वार्ड हैं। यहां भाजपा 11, कांग्रेस 6 और बसपा 1 वार्ड जीती है। अन्य  6 वार्ड विधायक नारायण त्रिपाठी के समर्थक जीते हैं।

लटेरी नगर परिषद में 15 वार्ड में भाजपा 9, कॉंग्रेस 4 जीती है। शमशाबाद नगर परिषद में भाजपा-12 और काग्रेस एक वार्ड जीती है। बैतूल जिले के घोड़ाडोंगरी में कांग्रेस 8 और भाजपा 5 वार्ड जीती है। त्योंथर नगर परिषद में बीजेपी_ 7, कांग्रेस 3 वार्ड जीती है तो नगर परिषद गोविंदगढ़ में भाजपा 7, कांग्रेस 4 वार्ड जीती है।

सीएम के क्षेत्र में तीन नगर परिषद में सिर्फ दो कांग्रेस पार्षद जीते
सीएम शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सीहोर के बुधनी विधानसभा क्षेत्र में तीनों नगर परिषद बुधनी, नसरुल्लागंज और रेहटी में कुल 45 वार्ड में कॉग्रेस को मात्र 2 वार्ड मिले हैं। नगर परिषद बुधनी में भारतीय जनता पार्टी को 13 और निर्दलीय 2 प्रत्याशी विजय घोषित हुए हैं। यहां कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली। नगर परिषद नसरुल्लागंज में भारतीय जनता पार्टी के 12, निर्दलीय 2 और कांग्रेस से 1 एक प्रत्याशी विजयी घोषित हुए हैं। नगर परिषद रेहटी में भारतीय जनता पार्टी के 12 निर्दलीय 2 और कांग्रेस से 1 प्रत्याशी विजयी घोषित हुए। मंत्री भूपेंद्र सिंह के क्षेत्र में बरोदिया नगर परिषद के सभी पार्षद पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। बांंदरी और मालथौन के 15-15  वार्ड में सभी वार्डो में भारतीय जनता पार्टी जीती है।

विधायक के प्रतिनिधियों को नहीं मिली जीत
छतरपुर जिले के सटई नगर परिषद में 15 वार्डों में 13 वार्ड कांग्रेस के कब्जे में, 2 वार्डो में सपा को मौका मिला है। यहां बीजेपी साफ हुई है। रामपुर बाघेलान वार्ड नं 7 से भाजपा पार्षद प्रत्याशी और विधायक के निज सचिव चुनाव हारे हैं। साथ ही वार्ड नं 13 से दो बार के विधायक प्रतिनिधि रहे प्रत्याशी चुनाव हार गए हैं। छिंदवाड़ा जिले के  चौरई नगर परिषद में 15 में से 9 वार्ड बीजेपी ने जीते। पन्ना जिले के गुनौर में 10 वार्ड,  अमानगंज में 8 और पवई में 10 वार्ड में बीजेपी जीती है। पिपलिया मंडी नगर परिषद के 15 वार्ड में 8 बीजेपी, 5 कांग्रेस 2 अन्य ने जीते हैं। भोरासा नगर परिषद में बीजेपी के 8 और 6 कांग्रेस प्रत्याशी जीते हैं। आगर मालवा जिले में सुसनेर नगर परिषद में 10 वार्ड बीजेपी, 4 कांग्रेस और 1 वार्ड अन्य के खाते में गया है। नगर परिषद खांड़ में बीजेपी को करारी हार मिली है। यहां 7 सीटों पर निर्दलीय, 3 पर बीजेपी, 5 पर कांग्रेस का कब्जा हुआ है।

यहां काग्रेस और भाजपा में कांटे की टक्कर
आगर मालवा नगर पालिका चुनाव में कांटे की टक्कर है। यहां कांग्रेस 11,भाजपा 10 और निर्दलीय 2 वार्ड जीते हैं। आगर मालवा में भाजपा से बागी हुए दो निर्दलीय चुनाव जीतने में सफल रहे। इन्हें छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित किया जा चुका है। बड़ावदा नगर परिषद चुनाव में भाजपा को 5, कांग्रेस को 5 आम आदमी पार्टी को 2 और भारतीय जनता पैनल (अवस्थी गुट) को 2 पार्षद मिले हैं।  नगर परिषद जेरोन में 10 पार्षद कांग्रेस, 3 भाजपा, 2 निर्दलीय जीते हैं। भानपुरा नगर परिषद में कांग्रेस का कब्जा हुआ है। यहां कांग्रेस 9 और भाजपा 5 पार्षद जिता सकी है। सीधी जिले के रामपुर नैकिन नगर परिषद में कांग्रेस 8, वार्ड में जीती और भाजपा के 7 पार्षद जीते हैं। नगर परिषद बरकुही के 15 वार्ड  के चुनाव में कांग्रेस के 11 और भाजपा के चार पार्षद विजयी हुए हैं।