भोपाल

शहर में चल रहे मेट्रो के काम के कारण शुक्रवार से 8 जुलाई तक कुछ मार्गोें पर ट्रैफिक डायवर्ट रहेगा। प्रगति पेट्रोल पंप के पास गर्डर लॉन्चिंग होना है। इस कारण ट्रैफिक पुलिस ने 6 दिन का ट्रैफिक डायवर्जन का प्लान जारी किया है। प्रगति पेट्रोल पंप से मानसरोवर की ओर जाने वाले सभी वाहन एक तरफ के मार्ग का इस्तेमाल कर जा सकेंगे। मानसरोवर से प्रगति पेट्रोल पंप की ओर जाने वाले वाहनों का आवागमन बंद रहेगा। सभी वाहन जिन्हें मानसरोवर से प्रगति पेट्रोल पंप व बोर्ड आफिस चौराहा की ओर आना है, वो मानसरोवर से 7 नंबर मार्केट चौराहा, सरोजनी नायडू कन्या स्कूल तिराहा, पारूल अस्पताल होकर प्रगति पेट्रोल पंप चौराहा एवं बोर्ड आॅफिस चौराहा की ओर आ सकेंगे। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर ट्रैफिक पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर 07552677340, 2443850 भी जारी किया है।

 

एम्स से सुभाष नगर तक पहली लाइन के लिए 80 फीसदी हिस्से में पिलर खड़े कर उन पर गार्डर लांच किए जा चुके हैं। इसके बाद भी विशेषज्ञों का कहना है कि अब तक इस प्रोजेक्ट का 40 फीसदी काम ही हो पाया है। इस पर करीब 500 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए जा चुके हैं। एम्स से सुभाष नगर तक 6.22 किमी के प्रायोरिटी रूट पर सितंबर 2023 तक मेट्रो शुरू करने का टारगेट है। अभी तक करीब 40 प्रतिशत काम हुआ है और बाकी 60 प्रतिशत काम 15 महीने में पूरा करना होगा।

वहीं डिपो के लिए आवंटित 65.25 एकड़ जमीन को समतल बनाने के लिए 20 से ज्यादा मशीनें काम कर रही हैं। यहां लगभग पूरी रात काम चलता है। सोमवार को डिपो के लिए पहले पिलर की कास्टिंग भी शुरू हो गई। दूसरा पहलू यह है कि स्टर्ड फार्म की जमीन पर डिपो का निर्माण शुरू होने के बाद झुग्गियों का अतिक्रमण होने लगा है। निगम के लिए अतिक्रमण व पानी की पाइप लाइन की बाधा अब भी बरकरार हैं। बता दें कि सोमवार को मेट्रो रेल कंपनी के अफसरों के साथ जिला प्रशासन व निगम का अमला स्टर्ड फार्म की जमीन पर नई बनीं झुग्गियों को हटाने पहुंचा था। इस दौरान निगम के अतिक्रमण प्रभारी आकाश मिश्रा की अतिक्रमणकारियों से तीखी बहस भी हुई। काफी देर तक बहस के बीच पांच झुग्गियां हटा दी गईं और बाकी को गुरुवार तक का समय दिया है। मेट्रो रेल कंपनी ने उन झुग्गियों को भी चिह्नित किया, जो पहले बाउंड्री से बाहर थीं और अब दायरा बढ़ा लिया है।

रानी कमलापति स्टेशन से जुड़ेगी मेट्रो लाइन

रानी कमलापति रेलवे स्टेशन और डीबी सिटी पर फुटओवर ब्रिज बनाए जाएंगे। रानी कमलापति रेलवे स्टेशन को भोपाल मेट्री से जोड़ने की योजना है। स्टेशन के ठीक सामने मेट्रो की लाइन रहेगी। पिलर का काम करीब पूरा हो गया है। ऊपर के स्लैब लगते ही रानी कमलापति स्टेशन से मेट्रो लाइन कनेक्ट हो जाएगी। वहीं डिपो के निर्माण में एक अच्छी बात यह है कि यहां 30 फीसदी हिस्सा ग्रीन रखा जाएगा। इंडियन ग्रीन बिल्डिंग कांग्रेस के पैरामीटर के आधार पर डिपो का निर्माण हो रहा है। आइजीबीसी को ड्राइंग भी सबमिट की गई है।