बलरामपुर-रामानुजगंज

पुलिस कप्तान बलरामपुर मोहित गर्ग ने बलरामपुर-रामानुजगंज के समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं समस्त थाना/चौकी प्रभारियों की अपराध/शिकायत समीक्षा बैठक में लिया गया। पुलिस कप्तान द्वारा जिले में लंबित अपराध तथा महिला एवं बच्चों संबंधी अपराधों की समीक्षा कर लंबित प्रकरणों में कड़ी आपत्ति जताते हुए लंबित अपराध लंबित चालान, लंबित मर्ग के निकाल हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए तथा जल्द से जल्द निकाल करने हेतु आदेशित किया गया। फरियादियों को त्वरित न्याय दिलाने के लिए उनकी शिकायत रिपोर्ट पर तत्काल वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी करने हेतु निर्देशित किया गया। पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्देशित किया गया कि अपराध घटित होने पर तत्काल पुलिस मौके पर पहुंचे आम जनता का पुलिस के प्रति विश्वास तथा अपराधियों में पुलिस का खौफ हो प्रत्येक दिशा में अच्छा कार्य कर जनता के मन में पुलिस के प्रति विश्वास को बढ़ाना है सामुदायिक पुलिसिंग को और भी बेहतर करना है बेसिक पुलिसिंग को मजबूत करें पुलिस का मुख्य उद्देश्य जनता की सेवा करना है जिसके प्रति प्रत्येक पुलिस अधिकारी कर्मचारी को समर्पण भाव से करना है थाना चौकी के फरार आरोपियों की अविलंब गिरफ्तारी समय से पूर्व विवेचना पूर्ण कर चालान माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किए जाने हेतु निर्देशित किया गया। पुलिसिंग व्यवस्था में कसावट लाने तथा बेसिक पुलिसिंग को मजबूत करने हेतु निर्देशित किया गया।

जिले के रामानुजगंज एवं अन्य क्षेत्रों में चोरी की घटनाओं में बढ़ोतरी को देखते हुए समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं समस्त थाना चौकी प्रभारियों को गस्त पेट्रोलिंग बढ़ाने एवं ऐसे संदिग्ध व्यक्तियों पर सतत निगाह रखने हेतु निर्देशित किया गया है ताकि चोरी की घटनाओं को रोका जा सके। पुलिस अधीक्षक बलरामपुर द्वारा संपत्ति संबंधी अपराधों की रोकथाम के लिए एसडीओपी वाड्रफनगर श्री अनिल कुमार विश्वकर्मा के नेतृत्व में विशेष पुलिस टीम का गठन किया गया है। पुलिस अधीक्षक द्वारा कहा गया की पेट्रोलिंग नाइट गस्त, एटीएम बैंक आदि की नियमित चेकिंग करने तथा सेंसिटिव एरिया में सतत निगरानी रखने से ही चोरी की घटनाओं को रोका जा सकता है।

फरियादियों द्वारा अपनी शिकायत लेकर थाना, चौकी, एसडीओपी कार्यालय व पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आने पर उनके साथ शालीन एवं मर्यादित व्यवहार करने एवं उनकी शिकायत आवेदन पर वैधानिक, उचित कार्यवाही सुनिश्चित किए जाने एवं उनके शिकायत पर त्वरित कार्यवाही करने निर्देशित किया गया। वरिष्ठ कार्यालय से प्राप्त शिकायतों का निराकरण समय सीमा में किया जाना सुनिश्चित करें, थाना/चौकी प्रभारी की लापरवाही पाए जाने पर दंडित करने हेतु कहा गया। जनदर्शन में प्राप्त शिकायतो का सात दिवस के भीतर निकाल करने हेतु निर्देशित किया गया। सायबर से संबंधित मामलों में सतकर्ता बरतने तथा आमजन तथा थाना/चौकी क्षेत्र के लोगों को सतर्क रखने एवं गुम बालक बालिकाओं के प्रकरणों में तत्काल टीम गठित कर पतासाजी करने हेतु सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिया गया है।