बरेली
 
यूपी के बरेली में 11 साल पहले सौरभ से मोहम्‍मद सुहेल बन गए शख्‍स ने घर वापसी कर ली है। हवन-पूजन और विधि-विधान से पुराने धर्म में वापसी करने के बाद इस शख्‍स ने बरेली जिला प्रशासन को भी प्रार्थना पत्र दिया है। सौरभ, नौगवा सादात अमरोहा का रहने वाला हैै। उसने शनिवार को हिन्दू धर्म में वापसी की। छोटी वमनपुरी के एक आश्रम में पंडित केके संख्यधार ने युवक का शुद्धिकरण कराया। युवक ने धार्मिक अनुष्ठान हिस्सा लिया। सुहैल से सौरभ बनने के बाद युवक ने खुशी जाहिर की। साथ ही अमरोहा में जान का खतरा बताते हुए बरेली में ही रहने का फैसला किया है। हिन्दू धर्म में वापसी के बाद सौरभ ने बताया कि 11 साल पहले उनकी बहन ने मुस्लिम युवक से शादी कर ली थी। मेरी बहन के साथ पिता वीरेंद्र रस्तोग, मां सीमा रस्तोगी के साथ मुझे भी इस्लाम धर्म स्वीकार कराया गया। हमारी सर्राफ की दुकान थी। सब खत्म हो गई।

मेरे पिता का नाम वीरेंद्र रास्तोगी की जगह मोहम्मद साहिल कर दिया गया। जबकि मेरे शैक्षिक प्रमाण पत्रों में नाम सौरभ और पिता का नाम वीरेंद्र रस्तोगी दर्ज है। मैं इस्लाम धर्म अपनाने के बाद डिप्रेशन में चल गया। कई बार आत्महत्या करने का विचार भी आया। किसी तरह डिप्रेशन से बाहर आया।
 
डीएम से मदद मांगी
सुहैल से फिर सौरभ बनने वाले युवक ने डीएम को एक प्रार्थना पत्र पोस्ट के जरिए भेजा है। सुहैल से सौरभ बने युवक ने डीएम से मदद मांगी है। अमरोहा में जान का खतरा भी बताया है।

मुझे अभी युवक का प्रार्थना पत्र नहीं मिला है। प्रार्थना प्राप्त होने के बाद उनकी मांग पर विचार किया जाएगा। अगर युवक ने सिक्योरिटी की मांग की तो मुहैया करा दी जाएगी।
शिवाकांत द्विवेदी, डीएम