दमोह
 कोतवाली थाना अंतर्गत स्थानीय कचोरा शॉपिंग सेंटर में स्थित डॉ भीमराव अंबेडकर मानस भवन में कल रात गाडरवारा से आई एक बारात को बिना दुल्हन के ही वापस जाना पड़ा। कारण बताया गया है कि दूल्हा मानसिक रूप से बीमार होने के चलते लड़की वालों ने विदा करने से मना कर दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा से दमोह एक बारात आई थी, जिसमें शादी में मंडप के दौरान ही दूल्हे ने कपड़े उतार दिए और जमकर हंगामा करते हुए तोड़फोड़ शुरू कर दी, जिस कारण से वहां पर विवाद की स्थिति बन गई, लेकिन विवाद शांत होने पर जैसे-तैसे विवाह हुआ, परंतु लड़की वालों को जैसे ही इस बात की भनक लगी कि दूल्हा मानसिक रोगी है और उसके द्वारा ही इस प्रकार की हरकत मानसिक रोगी के कारण की जा रही है। इसके बाद सुबह लड़की वालों ने विदा करने से मना कर दिया और दूल्हे को बस में बांधकर लड़के पक्ष के लोगों को ले जाना पड़ा।

इस दौरान उसके द्वारा लगातार ही गाली-गलौज करते हुए बातचीत की जा रही थी। इस संबंध में दुल्हन पक्ष द्वारा महिला पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। जिस पर महिला थाना प्रभारी सुषमा श्रीवास्तव ने आवेदन पर जांच कर कार्रवाई किए जाने की बात कही है।