खंडवा  
खेल-खेल में खरगोन जिले के ग्राम सिवना निवासी नौ वर्षीय बालिका ने दो रुपये का सिक्का निगल लिया। जो उसकी आहार नली में जाकर फंस गया। चार से पांच डाक्टरों के पास जाने व सिक्का नहीं निकलने पर रविवार शाम माता-पिता बालिका को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे।

यहां पर रात को जांच की गई। इसके बाद सोमवार को निश्चेतना विशेषज्ञ व नाक कान गला रोग विशेषज्ञ ने दूरबीन पद्धति से आपरेशन कर गले में फंसा सिक्का निकाला। सिक्का 15 सेंटीमीटर अंदर तक जाकर आहार नली में फंस गया था। लगभग एक घंंटे की कोशिश के बाद इसे गले से निकाला जा सका।

रविवार सुबह बालिका के सिक्का निगलने की जानकारी माता-पिता को जानकारी लगी। उन्होंने तुरंत गांंव के डाक्टर को दिखाया। वहां पर इलाज नहीं होने पर भीकनगांव व फिर खंडवा लाए। खंडवा में निजी अस्पताल में लेकर गए जहां भी मना कर दिया गया। इसके बाद वे जिला अस्पताल इएनटी विभाग में पहुंचे। यहां पर हेड आफ डिपार्टमेंड डा. संजय अग्रवाल व डा. सुनील बजोलिया ने एक्स रे निकाला व जांच की।

सिक्का बालिका आहार नली में फंसा होने से वह कुछ खा नहीं पा रही थी। डाक्टरों ने कोशिश की लेकिन सिक्का गले के ज्यादा अंदर होने के कारण निकल नहीं पाया। रात को निश्चेतना विशेषज्ञ के ना होने से सुबह निकालने का निर्णय लिया गया। सोमवार सुबह डा. बजोलिया, डा. अभिलाष वर्मा, निश्चेतना विशेषज्ञ शीला अग्रवाल व अविरल श्रीवास्तव की टीम ने दूरबीन पद्धति से आपरेशन कर सिक्के को निकाला। बालिका की तबीयत ठीक है जिसे जल्द छुट्टी दी जाएगी।