जशपुर

भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिल के पतराटोली गांव में सभा को संबोधित करते हुए आम नागरिकों से राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने लोगों को बताया कि वे बलरामपुर जिले में पेहटा खाया,  इसी तरह छतीसगढ़ में घूम-घूम कर अलग- अलग जगह के भोजन का स्वाद ले रहा हूँ।

भेंट-मुलाकात सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल राशन कार्ड के बारे में जानकारी ली और पूछा कि सभी को चावल मिल रहा है ना, अब गेंहू, चना भी मिल रहा है। उन्होंने पूछा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना की 21 मई को पहली किश्त किसको मिला, इस पर किसानों ने हाथ उठाकर अभिवादन किया। मुख्यमंत्री ने बताया कि दूसरी किश्त 20 अगस्त को मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि वैल्यू एडिशन से आय में वृद्धि होगी। स्वामी आत्मानंद स्कूल में आपके बच्चे पढ़ेंगे। उन्होंने बताया कि राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत 7 हजार रूपए सालाना मिलेगा। मुख्यमंत्री से बात करते हुए भागवत राम ने कहा कि 40 हजार रूपए का कर्ज माफ हुआ है, किसान न्याय योजना से 35 हजार मिला है। मुख्यमंत्री ने सभी को बताया कि इस वर्ष 2640 रुपये समर्थन मूल्य मिलेगा, अगले वर्ष 2800 रुपए समर्थन मूल्य मिल सकता है।

गंगा मैया महिला स्व- सहायता समूह, कोरना की श्रीमती रीना साय ने मुख्यमंत्री को बताया कि कोरना गौठान वे वर्मी कम्पोस्ट , मुगीर्पालन बकरी पालन करती हैं। एक मिनी राइस मिल भी चला रही हैं, यह उन्हें कृषि विभाग से मिला है। उनसे वे धान कुटाई आटा- पिसाई, दलिया आदि का कार्य करती है। इस कार्य से उन्हें एक साल में एक लाख 40 हजार रुपये की आमदनी हुई। श्रीमती रीना ने धन्यवाद देते हुए कहा कि आपने बहुत अच्छी योजना बनाई।

मुख्यमंत्री ने भूमिहीन ग्रामीण कृषि मजदूर योजना के बारे पूछा, किसके-किसके बच्चे पढ़ते हैं, स्वामी आत्मानन्द स्कूल में तो रामजी यादव ने बताया उनका एक बच्चा क्लास एक में और दूसरा बच्चा सातवी में पढ़ रहा है। पहले निजी स्कूल 1500 फीस लगती थी अब नही लगती। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि वैल्यू एडिशन से आय में वृद्धि होगी। स्वामी आत्मानंद स्कूल में आपके बच्चे पढ़ेंगे। आत्मानंद स्कूल में पढ?े वाली छात्रा पलक गुप्ता ने रायपुर में इंजीनियरिंग और मेडिकल परीक्षाओं की तैयारी की व्यवस्था देखने के लिए शैक्षणिक टूर में जाने की इच्छा जताई, जिस पर मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को कार्रवाई के निर्देश दिए।

यहां कक्षा दसवीं की छात्रा ने कहा कि हिंदी मीडियम में 11वी और 12वी की कक्षाऐं संचालित होनी चाहिए, जिस पर मुख्यमंत्री ने दोनों कक्षाओ के संचालन की घोषणा की। सूरजमुखी महिला स्व-सहायता समूह दुलदुला ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को काजू की टोकरी भेंट की। महिला समूह की प्रमुख झिमनी बाई ने बताया कि वे काजू प्रसस्करण केंद्र चलाती हैं। इससे उनके समूह को 60 हजार रुपए प्रति महीना आमदनी हो रही है। उनके समूह में 10 सदस्य हैं। वे काजू को सी- मार्ट, ट्राइफेड और रायपुर के होटल में बेचते हैं। इन सब के बीच मुख्यमंत्री ने आम लोगों को बताया कि बलरामपुर जिले में उन्होंने पेहटा खाया और इसी तरह छतीसगढ़ के अलग- अलग जगह में में घूम-घूम कर भोजन का स्वाद ले रहे हैं।