जगदलपुर
बस्तर संभाग में इस वर्ष लक्ष्य से अधिक तेंदूपत्ता का संग्रहण हुआ, बावजूद इसके तेंदूपत्ता संग्राहक ग्रामीणों को इनके भुगतान में हो रही देरी से राशि के लिए भटकना पड़ रहा है। तेंदूपत्ता संग्राहकों को नगद भुगतान के लिए सरकार ने आदेश जारी किया है, इसके बाद भी समय पर भुगतान नहीं मिल पा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार बीजापुर और सुकमा जिले में 39 करोड़ 94 लाख का भुगतान होना है। बीजापुर में 32 करोड़ 21 लाख रुपए के तेंदूपत्ता का भुगतान होना है, जिनमें आधे से अधिक राशि का भुगतान अटका हुआ है। इन क्षेत्रों के तेंदूपत्ता संग्राहक ग्रामीण अपना बकाया राशि लेने भटक रहे। तेंदूपत्ता से मिलने वाली राशि से ग्रामीणों की कई जरूरतों की पूर्ति होती है।