अंबेडकरनगर
 
अंबेडकरनगर के कोतवाली टांडा क्षेत्र के मोहल्ला नैपुरा एवं सकरावल में गैंगस्टर के तीन आरोपियों का मकान बुधवार को जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन के आदेश पर पुलिस तथा राजस्व विभाग की टीम ने कुर्क किया। घर की महिलाओं ने कुर्की की कार्रवाई का विरोध भी किया। तीनों की सम्पत्ति की कुल कीमत करीब 60 लाख बताई जा रही है हालांकि अभी इसका मूल्यांकन नहीं हुआ है।

नैपुरा एवं सकरावल निवासी तौसीफ पुत्र तौफीक, कफील उर्फ पुल्लू पुत्र ताज मोहम्मद और तौहीद अहमद की ओर से लम्बे अर्से से प्रतिबंधित पशुओं का वध कर मांस बेचने का कार्य किया जा रहा था। टांडा कोतवाली पुलिस ने इन लोगों को कई बार प्रतिबंधित पशुओं के मांस के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था किन्तु इसके बाद भी ये लोग गिरोह बनाकर काम करते रहे। पुलिस ने इनके विरुद्ध गैंगस्टर का अपराध पंजीकृत किया।
 जिलाधिकारी के आदेश के बुधवार को एसडीएम टांडा दीपक वर्मा के नेतृत्व में कोतवाल टांडा विजेन्द्र शर्मा, वरिष्ठ उपनिरीक्षक अरविन्द कुमार पांडेय, उपनिरीक्षक राम नरेश वर्मा, लेखपाल छोटेलाल एवं भारी मात्रा में पुलिस फोर्स तथा महिला सिपाहियों के साथ नैपुरा व सकरावल पहुंचे। गैंगेस्टर के आरोपी तौसीफ का दो मंजिला मकान, कफील उर्फ पुल्लू का मकान एवं घेरा तथा तौहीद अहमद के मकान को कुर्क कर उसको सील कर दिया। गैंगस्टरों के मकानों की कुर्की में घर की महिलाओं ने बाधा डालने का असफल प्रयास किया किन्तु वह भारी पुलिस बल के कारण सफल न हो सकीं।