रायपुर
राज्य में खरीफ फसलों की 26 लाख 02 हजार हेक्टेयर बुआई हो चुकी है, जो निर्धारित लक्ष्य का 54 प्रतिशत है। अब तक खरीफ फसलों के तहत सर्वाधिक 21 लाख 87 हजार हेक्टेयर में धान की बोनी हुई है। इसके अलावा मोटे अनाज की 1 लाख 61 हजार हेक्टेयर में, दलहन की 1 लाख 5 हजार हेक्टेयर में, तिलहन की 74 हजार हेक्टेयर में तथा सब्जी एवं अन्य फसलों की 76 हजार हेक्टेयर में बुआई पूरी कर ली गई है।

चालू वर्षा मौसम में राज्य में अब तक 440.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है, जो इसी अवधि की 10 वर्षों की औसत वर्षा 377.9 मिमी का 117 प्रतिशत है। इस साल वर्षा मौसम शुरूआती दिनों में मानसून के भटकाव के चलते खरीफ फसलों की बोनी प्रभावित हुई है। बीते वर्ष खरीफ सीजन-2021 में 18 जुलाई की स्थिति में राज्य में फसलों की बुआई 29 लाख 24 हजार हेक्टेयर में हो चुकी थी।

कृषि विभाग के प्राप्त जानकारी के अनुसार 18 जुलाई की स्थिति में राज्य में मक्का की 3 लाख 14 हजार हेक्टेयर में तथा अन्य फसलों की 1 लाख 46 हजार हेक्टेयर में बुआई हो चुकी है। दलहन फसलों के अंतर्गत 70 हजार हेक्टेयर में अरहर, 29 हजार हेक्टेयर में उड़द तथा 5 हजार हेक्टेयर में अन्य दलहन फसलों की बोनी की जा चुकी है। इसी तरह 36 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन, 32 हजार हेक्टेयर में मूगफली तथा 5 हजार हेक्टेयर में अन्य तिलहन फसलों की बोनी हो चुकी है।
गौरतलब है कि खरीफ सीजन 2022 में कुल 48 लाख 20 हजार हेक्टेयर में खरीफ फसलों की बुआई का लक्ष्य निर्धारित है, जिसमें 33 लाख 61 हजार हेक्टेयर में धान, 3 लाख 14 हजार हेक्टेयर में मक्का, 1 लाख 46 हजार हेक्टेयर में अनाज की अन्य फसलें, 1 लाख 70 हजार हेक्टेयर में अरहर, 2 लाख 10 हजार हेक्टेयर में उड़द, 70 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन, 72 हजार हेक्टेयर मूंगफली, 1 लाख 26 हजार हेक्टेयर में तिलहन की अन्य फसलें तथा 2 लाख 83 हजार हेक्टेयर में साग-सब्जी एवं फसलों की बुआई का लक्ष्य है।