नई दिल्ली

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से प्रवर्तन निदेशालय (ED) नेशनल हेराल्ड केस में पूछताछ करना चाहती है। इसके लिए सोनिया गांधी को ED ने आज 23 जून को दफ्तर बुलाया था। लेकिन सोनिया गांधी ने ED से पूछताछ के लिए और समय देने की मांग की है। इसके लिए उन्होंने चिट्‌ठी लिखी है। इसमें उन्होंने अपनी खराब तबीयत का हवाला दिया है।

डॉक्टरों ने दी आराम करने की सलाह- जयराम रमेश
जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा कि सोनिया गांधी को डॉक्टरों ने घर पर आराम करने की सलाह दी है। इसलिए उन्होंने ED को पत्र लिखकर मांग की है कि जब तक कि वह पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाती, उनकी उपस्थिति की तारीख को बढ़ा दिया जाए।

20 जून को हुईं थीं हास्पिटल से डिस्चार्ज
सोनिया गांधी सोमवार को ही अस्पताल से घर लौटकर आईं हैं। उन्हें कोरोना से हुई परेशानियों की वजह से 12 जून को सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 75 साल की सोनिया गांधी 2 जून को कोरोना संक्रमित हुई थीं।

सांस नली में इन्फेक्शन था
कोरोना से उबरने के बाद सोनिया गांधी को सांस नली में संक्रमण हो गया था। कांग्रेस के प्रवक्ता जयराम रमेश ने कहा था कि उनकी नाक से खून बहने लगा था, जिसके बाद 12 जून को उन्हें हॉस्पिटलाइज किया गया था। इसके बाद सांस नली की निचले हिस्से में फंगल इन्फेक्शन का भी पता चला था।

23 जून को बुलाया था ED ने
नेशनल हेराल्ड से जुड़े मामले में ED ने सोनिया को 8 जून को पेश होने के लिए कहा था। कोरोना संक्रमित होने की वजह से उन्होंने जांच एजेंसी से कुछ समय मांगा था। इसके बाद ED ने उन्हें आज 23 जून को पेश होने के लिए कहा है। अब उन्होंने ED से पेशी की तारीख आगे बढ़ाने की अपील की है।

कांग्रेस ने केंद्र पर लगाया आरोप
ED राहुल गांधी से इस मामले में पिछले 5 दिनों में 50 घंटे तक पूछताछ कर चुकी है। वहीं कांग्रेस ने केंद्र पर जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर विपक्षी नेताओं को निशाना बनाने का आरोप लगाया है और पूरी कार्रवाई को राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया है।