लखनऊ
 
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव पूरी तरह बगावत के मूड में आ गए हैं। राष्ट्रपति पद के विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा की जगह एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को वोट देने का ऐलान कर दिया है। शिवपाल ने शनिवार को आगे की रणनीति भी साझा की और भतीजे अखिलेश पर कई हमले करते हुए निशाना भी साधा। यहां तक कहा कि उनमें परिपक्वता की कमी है। इससे पार्टी कमजोर हो रही है। शिवपाल ने द्रौपदी मुर्मू को प्रत्याशी बनाने पर पीएम मोदी की तारीफ भी की।

एक टीवी चैनल से बातचीत में शिवपाल यादव ने कहा कि विधानसभा चुनाव में मुझे समाजवादी पार्टी ने टिकट दिया था। सपा के टिकट पर ही विधायक बना। इसके बाद भी समाजवादी पार्टी की किसी बैठक में मुझे नहीं बुलाया जाता है। यहां तक कि राष्ट्रपति पद के विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा की बैठक में भी मुझे नहीं बुलाया गया। शिवपाल ने कहा कि शुक्रवार को सीएम योगी ने बुलाया तो उनके निमंत्रण पर द्रौपदी मुर्मू के डिनर में गया था। योगी जी ने मुझसे वोट मांगा। इसके बाद मैंने तय किया है कि द्रौपदी मुर्मू को ही वोट दूंगा।

शिवपाल ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने लोकतंत्र को मजूबत करने के लिए द्रौपदी मुर्मू को प्रत्याशी बनाया है। आगे की रणनीति पर शिवपाल ने कहा कि अब तो समाजवादी पार्टी की तरफ से किसी बैठक या आयोजन में बुलाया नहीं जाता है। इसे लेकर कई बार शिकायत भी कर चुका हूं। ऐसे में साथियों से मिलकर आगे के लिए कोई निर्णय लिया जाएगा।