उज्जैन
मध्यप्रदेश में इन दिनों झमाझम बारिश का सिलसिला जारी है, जहां इसी के चलते प्रदेश के कई हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। वहीं मालवा निमाड़ अंचल में भी लगातार हो रही झमाझम बारिश के चलते अब हालात बिगड़ने लगे हैं, जहां प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में शिप्रा नदी उफान पर आ गई है। इसी के चलते शिप्रा नदी के तट पर स्थित मंदिर भी अब डूबने लगे हैं, तो वहीं नदी में अचानक बड़े जलस्तर के बाद अब नदी के आसपास के इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है।
 
प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर और उज्जैन में लगातार हो रही झमाझम बारिश के चलते शिप्रा नदी का जलस्तर भी अब बढ़ने लगा है। यही कारण है कि, लगातार बढ़ते जलस्तर के कारण अब नदी के आसपास स्थित कई मंदिर जलमग्न हो गए हैं, तो वहीं नदी के पुल से आम लोगों की आवाजाही को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसके साथ ही प्रशासन ने नदी के किनारे रहने वाले लोगों को दूसरी जगह शिफ्ट करने की तैयारी शुरू कर दी है। साथ ही घाट के आसपास भी सुरक्षा बल तैनात किया गया है।

छोटा पुल डूबा तो वहीं घाट हुए जलमग्न
धार्मिक नगरी उज्जैन स्थित शिप्रा नदी के उफान पर आने के बाद नदी का छोटा पुल पूरी तरह से डूब चुका है, तो वहीं नदी किनारे स्थित घाट भी जलमग्न नजर आ रहे हैं। नदी के आसपास तैनात सुरक्षाबलों को लाइफ जैकेट दिए गए हैं, तो वहीं श्रद्धालुओं से भी सतर्क रहने की अपील पुलिस प्रशासन ने की है। उधर, मौसम विभाग में आने वाले दिनों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है, जिसके बाद स्थिति और बिगड़ने की संभावना है।

आने वाले 24 घंटे प्रदेश के लिए महत्वपूर्ण
आने वाले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के कई हिस्सों में झमाझम बारिश का सिलसिला देखने मिलेगा, तो वहीं कहीं-कहीं बाढ़ आने की आशंका भी जताई गई है, जिसे देखते हुए स्थानीय प्रशासन भी अब अलर्ट नजर आ रहा है। वहीं अब तक जारी भारी बारिश के दौरान नदी नाले जहां उफान पर आ गए हैं, तो वहीं लोगों के घरों में भी पानी घुसने लगा है। भारी बारिश के चलते अलग-अलग तरह के हादसों की खबर भी प्रदेश से निकल कर सामने आ रही है।