भोपाल

ग्रामीण क्षेत्रों में सम्पूर्ण कोविड-19 टीकाकरण करवाने में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्व-सहायता समूह की महिलाएँ भागीदार बनेंगी। राज्य परियोजना प्रबंधक, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ने सभी जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को इस आशय के निर्देश जारी किये हैं।

राज्य परियोजना प्रबंधक द्वारा जारी निर्देश में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को पत्र लिख कर ग्रामीण क्षेत्रों में सम्पूर्ण कोविड टीकाकरण के लिये ग्रामीण अंचलों में मिशन अंतर्गत गठित स्व-सहायता समूह की महिलाओं को सहयोग देने के लिये कहा है। उन्होंने कहा कि स्व-सहायता समूह की नियमित बैठकों में कोविड-19 पूर्ण टीकाकरण के लाभ बताये जायें। साथ ही टीकाकरण नहीं कराये जाने की स्थिति में होने वाले दुष्प्रभावों पर भी चर्चा की जाये। कोविड टीकाकरण शिविरों में अपने परिवार के सदस्यों का टीकाकरण कराने के लिये प्रेरित किया जाये, जिन्होंने अभी तक पूर्ण टीकाकरण नहीं कराया है। साथ ही ऐसे सदस्यों की सूची आशा और एएनएम के साथ साझा करें, जिनका पूर्ण कोविड टीकाकरण नहीं हुआ है। समूह के सदस्य से 12 से 14 वर्ष आयु वर्ग और 15 से 17 वर्ष आयु वर्ग के छूटे हुए बालक-बालिकाओं को टीके की पहली और दूसरी डोज लगवाने में भी सहयोग करें।