लखनऊ
 
आतंकवादी गतिविधियों एवं जिहादी मानसिकता को ध्यान में रखते हुए अयोध्या-काशी व मथुरा की सुरक्षा व्यवस्था के लिए स्पेशल फोर्स गठन की तैयारियां चल रही है। यह फोर्स सीआरपीएफ, पीएसी व यूपी पुलिस सहित सभी केन्द्रीय सुरक्षा एजेंसियों के समन्वय से बनेगी। इस नये सुरक्षा ड्राफ्ट के साथ शासन ने भारत सरकार के गृह मंत्रालय को प्रस्ताव प्रेषित कर दिया है। इसके पहले भारत सरकार के निर्देश पर ही तीनों महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों के लिए स्थाई सुरक्षा समिति का गठन गोपनीय रीति से कर दिया गया है।

श्रीरामजन्मभूमि की स्थाई सुरक्षा समिति की बैठक में आए एडीजी सुरक्षा वीके सिंह ने इस आशय का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजे जाने की पुष्टि की है। आउटर कार्डन में यूपी पुलिस व पीएसी की निगरानी होगी तो सम्पूर्ण इनर कार्डन सीआरपीएफ के ही हवाले रहेगा। जनवरी 2024 में रामजन्मभूमि में नवीन मंदिर में रामलला की प्रतिष्ठा से पहले स्पेशल फोर्स परिसर की कमान संभाल लेगी।