नोएडा
 
नोएडा सेक्टर-137 स्थित पारस टियारा सोसाइटी में कुत्ते ने गाजियाबाद की एसडीएम गुंजा सिंह पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया। जब कुत्ते पकड़ने वाली टीम सोसाइटी पहुंची तो काफी सारे पशु प्रेमी इकत्रित हो गए और कुत्ते ले जाने पर टीम पर ही भड़क उठे। इसके बाद पशु प्रेमी और सोसाइटी में कुत्तों के हमले से घायल हुए लोग आमने-सामने आ गए। काफी देर तक हंगामा और प्रदर्शन होता रहा।

जानकारी के अनुसार सेक्टर-137 स्थित पारस टियारा सोसायटी में एसडीएम सुबह टहलने के लिए घर से निकली थीं। इस दौरान कुत्ते ने उन्हें पैर में काटकर घायल कर दिया। यह सूचना सोसाइटी निवासियों तक पहुंची तो उनका आक्रोश बढ़ गया। निवासियों ने सुबह दस बजे से तीन बजे तक प्रदर्शन किया। मामले की सूचना प्राधिकरण को मिलने के बाद दो गाड़ियां सोसाइटी में भेजी गईं लेकिन कुत्तों को वहां से न ले जाने की बात करते हुए कुछ डॉग लवर टीम का विरोध करने लगे। विरोध इतना बढ़ गया कि कुत्तों को पकड़ने पहुंची दो टीम को मौके से भागना पड़ा। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई। फिर दोबारा से गाड़ियां कुत्तों को पकड़ने के लिए भेजी गई। गुंजा सिंह गाजियाबाद से पूर्व गौतमबुद्ध नगर में जेवर एसडीएम भी रह चुकी हैं। बता दें कि शहर में हर दिन पांच से दस घटनाएं कुत्ते काटने की सामने आ रही हैं।
 

सोसाइटी में कुत्तों पर हमला करने का यह पहला मामला नहीं है। बीते दिनों ही बेसमेंट में आवारा कुत्तों ने एक महिला टीना पर हमला कर दिया था। कुत्तों के हमले से महिला गिर गई, जिसके बाद कुत्तों ने उनकी कमर की त्वचा को नोंच डाला था। नीचे गिरने से उनका हाथ भी टूट गया था।इलाज के लिए महिला को अपनी कमर की सर्जरी करानी पड़ेगी। इससे पहले भी ऐसी कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। सोसाइटी में कुत्तों के आतंक को कम करने के लिए काफी प्रयास किए जा चुके हैं लेकिन व्यवस्था न लागू होने से हालत जस के तस हैं।

हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई

नोएडा सेक्टर-120 आम्रपाली जोडिएक सोसाइटी के आरडब्ल्यूए अध्यक्ष जोगेंद्र सिंह व उनके एक साथी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कुत्तों के लिए अलग शेल्टर होम बनाने की मांग की है। उन्होंने कुछ दिन पूर्व महिला टीना पर हुए हमले के बाद इस संबंध में बैठक की थी। जोगेंद्र ने सेक्टर और सोसाइटी परिसर में कुत्तों के लिए खाना डालने वालों के खिलाफ जुर्माने का प्रावधान लागू करने की बात कही है।