सतना
सतना में पार्टी ने ऐसे 51 बागी कार्यकर्ताओं की प्राथमिक सदस्यता 6 साल के लिए रद्द कर दी है, जिन्हें मनाने के बाद भी वे पार्टी द्वारा घोषित प्रत्याशी का समर्थन न कर निर्दलीय अथवा अन्य किसी पार्टी से टिकट लेकर मैदान में खड़े हो गए।

नगरीय निकाय चुनाव में बीजेपी से बगावत करने वाले पदाधिकारी एवं कार्यकताओं पर गाज गिरी है। बीजेपी जिला अध्यक्ष ने चुनावी माहौल में करीब 51 लोगो को पार्टी से 6 वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया है. मध्यप्रदेश के सतना में नगरी निकाय चुनाव में भाजपा से बगावत करने वाले 51 लोगो पर निष्काशन की गाज गिरी है। सतना जिला संगठन ने प्रदेश संगठन की अनुशंसा से 6 वर्ष के लिए बागी कार्यकर्ताओं को पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

 सतना में बीजेपी के 51 बागी कार्यकर्ता निष्कासित
बागियों पर हुई कार्रवाई: नगर निगम सतना में 22, नगर पालिका मैहर में 11, नगर पंचायत चित्रकूट में 5, नगर परिषद जैतवारा में 2, बिरसिंहपुर में 4, कोठी में 2 कार्यकर्ताओ को निष्कासित किया गया. ये वरिष्ठ कार्यकर्ता भाजपा से बगावत कर निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे है और भाजपा के पार्षद पद के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ रहे है. यह कार्रवाई जिला अध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी की अनुशंसा पर प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने 6 वर्षों के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया है. निष्कासित होने वाले में पदाधिकारी पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मैहर सूर्य प्रकाश चौरसिया, राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त पूर्व हस्त शिल्प कला मंडल के पूर्व अध्यक्ष राजेंद्र नामदेव का भी निष्कासन हुआ है।