मुंबई
 शिवसेना नेता व राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा है कि उनकी पार्टी महाराष्ट्र में अपने दम पर 100 सीटें जीतेगी.  उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है शिवसेना 100 सीटें जीतेगी. उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में मध्यावधि चुनाव होने दें, स्पष्ट हो जाएगा कि कौन जीतता है और कौन हारता है.’

उद्धव ठाकरे गुट के इस नेता ने कहा, ‘शिवसेना बाबा (बालासाहेब) ठाकरे की है. किसी और की नहीं हो सकती. आप इसे पैसे के जरिए हाईजैक नहीं कर सकते. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है, सिर्फ पैसा ही नहीं बल्कि कुछ और भी दिया गया (शिवसेना के बागी विधायकों को). जब यह ‘कुछ’ सामने आएगा तो बड़ा खुलासा होगा.’

उन्होंने कहा, ‘हमें अब भी उम्मीद है कि ये विधायक लौट आएंगे…बागियों से हमारी हमेशा बातचीत होती थी… ये हमारे लोग हैं, वापस आएंगे. सुबह का भूला अगर शाम को घर आ जाए तो उसे भूला नहीं कहते.’ आपको बता दें कि शिवसेना के 41 विधायकों ने एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में आलाकमान के खिलाफ बगावत कर दी. इसके परिणाम स्वरूप उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार को सत्ता से बेदखल होना पड़ा.

एकनाथ शिंदे सबसे पहले 22 जून को 11 शिवसेना विधायकों के साथ सूरत पहुंचे. यहां से वह सभी विधायकों को लेकर गुवाहाटी चले गए. इसके बाद एक-एक करके शिवसेना के 40 विधायक शिंदे गुट के साथ हो गए. इस तरह ​उद्धव ठाकरे के पास सिर्फ 16 विधायक बचे. एकनाथ शिंदे गुट ने भाजपा के साथ मिलकर महाराष्ट्र में नई सरकार का गठन किया. शिंदे मुख्यमंत्री बने, जबकि देवेंद्र फडणवीस उपमुख्यमंत्री.

महाराष्ट्र विधानसभा में पहले 3 जुलाई को स्पीकर का चुनाव हुआ, जिसमें भाजपा विधायक राहुल नार्वेकर ने एमवीए उम्मीदवार और शिवसेना विधायक राजन साल्वे को हरा दिया. नार्वेकर को 164 वोट मिले, जबकि राजन साल्वे को 107. इसके अगले दिन विधानसभा में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की सरकार का बहुमत परीक्षण हुआ, जिसे उन्होंने 164 वोटों के साथ जीत लिया. एमवीए के समर्थन में 99 वोट पड़े.