रायपुर
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख डा. मोहन भागवत आठ दिन तक रायपुर में रहेंगे। भागवत छह सितंबर को रायपुर पहुंचेंगे। नौ से 12 सितंबर तक रायपुर के वीआइपी रोड स्थित जैनम भवन में आयोजित अखिल भारतीय समन्वय समिति की बैठक में वे शामिल होंगे।
राष्ट्रीय सुरक्षा व सामाजिक समरसता के मुद्दे पर आयोजित इस बैठक में संघ के 36 अनुषांगिक संगठनों के पदाधिकारी भाग लेंगे। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी इसमें उपस्थित रहेंगे। इससे पहले भागवत छह से नौ सितंबर तक संघ प्रेरित समाज जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रहे स्वयंसेवकों के कार्यक्रम में शामिल होंगे। संघ प्रमुख के आगमन की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि संघ की बैठक के नतीजों पर हमारी दृष्टि है। संघ की अखिल भारतीय समन्वय समिति की बैठक वर्ष में एक बार होती है। इस बार यह बैठक छत्तीसगढ़ में हो रही है। इसके पहले संघ की ओर से राजस्थान के झुंझुनू में सात से नौ जुलाई, 2022 तक अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की बैठक आयोजित हुई थी। पिछले सप्ताह 27 और 28 अगस्त को वाराणसी शहर से बाहर कोइराजपुर में संघ की दो दिवसीय बैठक में देशभर के 45 प्रांतों के प्रांतीय प्रचार प्रमुख व सह प्रचार प्रमुख प्रतिभाग कर चुके हैं। तीन महीने के भीतर रायपुर में होने जा रही संघ की यह तीसरी बड़ी बैठक होगी।

बैठक में संघ के शताब्दी वर्ष की तैयारी को लेकर होगी चर्चा
संघ के शताब्दी वर्ष की तैयारी को लेकर इस बार की बैठक में विशेष रूप से चर्चा होगी। विभिन्न संगठन भी अपने-अपने कार्य व उपलब्धियों पर प्रस्तुति देते हुए विस्तार से चर्चा करेंगे। शिक्षा व वैचारिक क्षेत्र, आर्थिक जगत, सेवा कार्य और अन्य मुद्दों पर निरंतर सक्रिय यह सभी संगठन बैठक में संबंधित कायरें पर मंथन करेंगे। नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन पर भी चर्चा होगी।