नई दिल्ली
 
ग्लैमरगन के बल्लेबाज सैम नॉर्थईस्ट ने शनिवार को 400 रनों से ज्यादा की पारी खेलकर प्रथम श्रेणी क्रिकेट में इतिहास रच दिया है। वह ब्रायन लारा के बाद प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक पारी में 400 रन का आंकड़ा पार करने वाले पहले बल्लेबाज बने। उन्होंने लीसेस्टरशायर के खिलाफ मैच में 450 गेंदों में नाबाद 410 रन बनाए। वह प्रथम श्रेणी पारी में 400 रन के आंकड़े तक पहुंचने वाले नौवें बल्लेबाज हैं। नॉर्थईस्ट को हालांकि ग्लेमोर्गन के लीसेस्टरशर के खिलाफ पांच विकेट पर 795 रन पर पारी घोषित करने से ब्रायन लारा के 501 रन के विश्व रिकॉर्ड व्यक्तिगत स्कोर को चुनौती देने का मौका नहीं मिला जो वेस्टइंडीज के इस स्टार ने 1994 में इंग्लिश काउंटी मैच में ही वारविकशर की ओर से खेलते हुए बनाया था। उन्होंने अपनी नाबाद 410 रनों की पारी के दौरान 45 चौके और तीन छक्के लगाए।

दाएं हाथ के बल्लेबाज सैम नॉर्थईस्ट को 2007 में पदार्पण करने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में से किसी में भी इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व करना बाकी है। हालांकि 32 साल के इस खिलाड़ी की रन बनाने की भूख खत्म नहीं हुई है। लीसेस्टर में ग्रेस रोड पर काउंटी चैम्पियनशिप डिवीजन 2 में लीसेस्टरशायर के खिलाफ ग्लैमरगन के मैच में सैम ने नाबाद 410 रनों की पारी खेलकर सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है।

एलीट स्तर के क्रिकेट में यह इस सदी का सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर है। इस 32 साल के खिलाड़ी ने 2004 में ब्रायन लारा के इंग्लैंड के खिलाफ वेस्टइंडीज के लिये नाबाद 400 रन के टेस्ट रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया। उनकी यह पारी सर्वकालिक सर्वोच्च स्कोर में नौंवे स्थान पर है। केवल आठ खिलाड़ी ही इससे पहले प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 400 या इससे ज्यादा रन का स्कोर बना पाये हैं। लारा की तरह ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बिल पोंसफोर्ड ने दो मौकों पर 400 रन का स्कोर पार किया था।
 
नॉर्थईस्ट की पारी इंग्लिश काउंटी मैच में 400 रन से ज्यादा का चौथा स्कोर है जो लारा की पारी के बाद बना है। आर्ची मैकलॉरेन (424 रन) ने 1895 और ग्रीम हिक (405 रन) ने 1988 में यह कारनामा किया था।
 
इस बीच सैम महान ब्रायन लारा के बाद प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 400 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए। अप्रैल 2004 में वापसी के बाद बाएं हाथ के लारा ने इंग्लिश गेंदबाजों में की जमकर धुनाई की और नाबाद 400 रन बनाए। ये आज तक एक टेस्ट पारी में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बना हुआ है। वेस्टइंडीज के इस महान बल्लेबाज ने 2004 में एंटीगुआ में चौथे टेस्ट के दौरान इंग्लैंड के खिलाफ रिकॉर्ड उपलब्धि हासिल की।