मुंबई
 
विदेशों में मजबूत अमेरिकी मुद्रा और घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई है, जिससे मंगलवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे गिरकर 79.58 पर आ गया। विदेशी मुद्रा व्यापारियों ने कहा कि लगातार विदेशी फंड की निकासी और कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी ने रुपये पर पर दबाव बनाए रखा। इंटरबैंक विदेशी मुद्रा में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 79.55 पर खुला। इसमें आज पिछले बंद के मुकाबले 13 पैसे की गिरावट है। शुरुआती कारोबार में स्थानीय मुद्रा में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 79.55 का उच्च और 79.62 का निचला स्तर देखा गया।

पिछले सत्र में, रुपया ग्रीनबैक के मुकाबले 79.45 के सर्वकालिक निचले स्तर पर बंद हुआ था। घरेलू इक्विटी के मोर्चे पर, 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 259.08 अंक या 0.48 प्रतिशत की गिरावट के साथ 54,136.15 पर कारोबार कर रहा था, जबकि व्यापक एनएसई निफ्टी 83.25 अंक या 0.51 प्रतिशत फिसलकर 16,132.75 पर बंद हुआ। इस बीच, डॉलर इंडेक्स 0.27 प्रतिशत बढ़कर 108.31 हो गया। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 1.48 प्रतिशत की गिरावट के साथ 105.52 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। विदेशी संस्थागत निवेशक सोमवार को पूंजी बाजार में शुद्ध विक्रेता थे।  उन्होंने एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार 170.51 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।