भिलाई

आईकॉनिक वीक के तहत भिलाई इस्पात संयंत्र के क्रीड़ा, सांस्कृतिक और नागरिक सुविधाएं विभाग ने रन फॉर स्टील दौड़ का आयोजन किया गया। सुबह 7.00 बजे इस्पात भवन के सामने से संयंत्र के कार्यपालक निदेशक प्रभारी (कार्मिक एवं प्रशासन) श्री के के सिंह ने धावकों को झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस अवसर पर संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) श्री अंजनी कुमार, कार्यपालक निदेशक (खदान) श्री तपन सूत्रधार, कार्यपालक निदेशक (परियोजनाएं) श्री एस मुखोपाध्याय, सीएमओ इंचार्ज (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएँ) डॉ एम रविंद्रनाथ तथा संयंत्र के मुख्य महाप्रबंधकगण और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

यह दौड़ लगभग 3 किलोमीटर की थी। इस्पात भवन से प्रारंभ होकर हैंडबाल मैदान में समाप्त हुई। इस दौड़ में नर्सिंग कॉलेज, सेक्टर -9 से लगभग 200 बालिकाओं ने, बी एस एफ, रिसाली, भिलाई से 50 से अधिक और हरभजन एकाडमी (एक्स आर्मी फिटनेस ट्रेनिंग सेंटर) के लगभग 150 से अधिक सदस्यों, सेल एथलेटिक्स एकादमी और मरोदा एथलेटिक्स क्लब, हैडबाल अकादमी एवं बी एस पी बाक्सिंग क्लब के सदस्य सहित कुल 675 से अधिक धावकों ने भाग लिया। इसके साथ ही संयंत्र बिरादरी के अधिकारियों और कार्मिकों ने भी दौड़ में उत्साह वर्धन के लिए भागीदारी दी।

दौड़ का समापन हैंडबाल मैदान, सेक्टर -4 में हुआ। इस अवसर पर दौड़ के विजेताओं को पुरस्कार वितरित भी किया गया। पुरस्कार वितरण कार्यपालक निदेशक प्रभारी (कार्मिक एवं प्रशासन) श्री के के सिंह तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने विजेताओं को पुरस्कृत किया।

पुरुष वर्ग में प्रथम : मुकेश कुमार 146, द्वितीय : ओमकार वर्मा 147, तृतीय झ्र गिरीश कुमार 136, चतुर्थ झ्र आशुतोष कुमार बिन्द 135, पांचवां झ्र उमाशंकर मंडावी 143, छंटवा झ्र कुशाल मंडावी 142, सांतवां झ्र जितेन्द्र वर्मा 148, आंठवा झ्र उमेश यादव 141, नौवां झ्र महावीर सपहा 131, दसवां झ्र आकाश राय 31। *महिला वर्ग* में प्रथम झ्र प्रियंका साहू ङ्ख157, द्वितीय झ्र शीतल कुशवाहा ङ्ख01, तृतीय झ्र रुक्मिणी साहू ङ्ख156, चतुर्थ झ्र प्रतिमा साहू ङ्ख158, पंचम झ्र रिम्पल साल ङ्ख02, छंटवा झ्र गुरप्रीत कौर ङ्ख21, सांतवा झ्र काजल ङ्ख 06, आठवां झ्र प्रियंका कुशवाहा ङ्ख 07, नौवां झ्र आरती यादव ङ्ख26, दसवां झ्र प्रगति प्रसाद ङ्ख24 रही। इस अवसर पर सीमा सुरक्षा बल, सीमांत मुख्यालय से इंस्पेक्टर श्री सुभाष और सब इंस्पेक्टर श्री अनुज कुमार विशेष रुप से उपस्थित थे।