नई दिल्ली

भारत व इंग्लैंड के बीच एजबेस्टन टेस्ट मैच के पहले दिन भारतीय विकेटकीपर-बल्लेबाज रिषभ पंत ने 111 गेंदों पर बेहतरीन 146 रन की पारी खेली और उनका रवींद्र जडेजा ने बखूबी साथ निभाया था। अब इस मैच की पहली पारी के दूसरे दिन रवींद्र जडेजा ने भी अपना शतक पूरा किया। रवींद्र जडेजा के ये इंग्लैंड क्रिकेट टीम के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पहला शतक था तो वहीं ये उनके टेस्ट करियर का तीसरा शतक रहा। इसके अलावा इंग्लैंड की धरती पर पहली बार जडेजा ने टेस्ट क्रिकेट में शतक लगाने में सफलता हासिल की। यही नहीं विदेशी धरती पर भी रवींद्र जडेजा के टेस्ट करियर का ये पहला शतक है।

जडेजा ने लगाया टेस्ट क्रिकेट करियर का तीसरा शतक
रवींद्र जडेजा ने टेस्ट क्रिकेट करियर की शुरुआत 2012 दिसंबर में नागपुर में इंग्लैंड के खिलाफ ही की थी। इसके 10 साल के बाद उन्होंने इंग्लिश टीम के खिलाफ पहला टेस्ट शतक लगाने में सफलता हासिल की। जडेजा ने अपना पहला टेस्ट शतक 2018 में राजकोट टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहली पारी में लगाई थी और नाबाद 100 रन बनाए थे। वहीं उन्होंने अपना दूसरा टेस्ट शतक मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ 2021 में लगाया था और इस मैच की पहली पारी में नाबाद 175 रन बनाए थे।

रवींद्र जडेजा ने इंग्लैंड के खिलाफ इस मैच की पहली पारी में 183 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया और अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने 13 चौके लगाए। पंत के शतक के बाद जडेजा के इस शतक से टीम इंडिया और मजबूत स्थिति में पहुंच गई। वहीं जडेजा ने इस मैच में पंत के साथ छठे विकेट के लिए 222 रन की रिकार्ड साझेदारी की। इंग्लैंड की धरती पर टेस्ट क्रिकेट में भारत की तरफ से छठे विकेट से लिए ये सबसे बड़ी साझेदारी साबित हुई। वहीं जडेजा ने इस मैच में 194 गेंदों का सामना करते हुए 104 रन बनाए और वो एंडरसन की गेंद पर बोल्ड आउट हो गए।