कानपुर। भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा को एक शानदार खिलाड़ी बताते हुए कहा है कि कठिन क्षणों में टीम को उनकी जरुरत रहेगी। साथ ही कहा कि टीम उनपर निर्भर भी रह सकती है पर उन्हें यह भूमिका विकेटकीपर ऋषभ पंत की अनुपस्थिति में ही मिल पायेगी। 37 साल के साहा भारतीय टीम के सबसे ज्यादा उम्र के खिलाड़ी हैं।

वह  11 साल पहले पदार्पण करने के बाद भी अब तक केवल 39 टेस्ट ही खेल पाये हैं। पदार्पण के बाद पहले पांच वर्ष महेंद्र सिंह धोनी के कारण उन्हें स्थानापन्न खिलाड़ी बनना पड़ा। वहीं अब ऋषभ के आने से भी उन्हें यही भूमिका निभानी पड़ रही है। खराब फिटनेस के कारण भी उन्हें कई बार टीम से बाहर होना पड़ा है।

बल्लेबाजी कोच राठौड़ ने कहा कि कीवी टीम के खिलाफ पहले टेस्ट में भी उसकी गर्दन में जकड़न थी और इसी कारण उन्हें अंतिम दिन बाहर होना पड़ा।  वह टीम के लिए कठिन हालातों में बेहतर बल्लेबाजी भी करते हैं और यह उन्होंने ग्रीन पार्क में दिखाया है। हम हमेशा उससे इसकी ही उम्मीद करते हैं।

वह हमेशा ऐसा खिलाड़ी रहा है जिस पर हम भरोसा कर सकते हैं। राठौड़ ने कहा कि जहां तक नियमित तौर पर उसे जगह मिलने का सवाल है तो युवा ऋषभ अभी अच्छा कर रहे हैं पर जब भी हमें जरुरत होग। उसकी जगह साहा को ही अवसर दिया जाएगा।