कुआलालंपुर

 मलेशिया मास्टर्स के विमंस सिंगल्स में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु का सफर समाप्त हो गया है। उन्हें टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल मुक़ाबले में एक बार फिर चिर प्रतिद्वंद्वी ताई जू यिंग से हार का सामना करना पड़ा है। चीन की ताई जू यिंग के खिलाफ यह सिंधु की लगातार 7वीं हार है। इससे पहले पिछले हफ्ते मलेशिया ओपन सुपर 750 बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में भी उन्हें ताई जू यिंग ने ही हराया था।

यिंग के खिलाफ सिंधु की लगातार 7वीं हार है।

सातवीं वरीयता प्राप्त सिंधु दूसरी वरीयता प्राप्त यिंग के खिलाफ पहला ही गेम बुरी तरह हार गई। यिंग ने उन्हें पहले गेम में 21-13 के बड़े अंतर से हराया। हालांकि सिंधु ने हार नहीं मानी और दूसरे सेट में जिरदार वापसी की। सिंधु ने दूसरा गेम यिंग को और भी बुरी तरह हराया और 21-12 से गेम अपने नाम किया।

यहां से ऐसा लग रहा था कि भारतीय शटलर चीन के खिलाफ 6 मैच से चला आ रहा जीत का सूखा खत्म कर देंगी। लेकिन यिंग ने आखिरी गेम में बता दिया कि वे हमेशा सिंधु पर भारी क्यों पड़ती हैं।

यिंग ने अपना आत्मविश्वास खोये बिना सिंधु पर पलट वार किया और ये गेम 21-12 के बड़े अंतर से जीत लिया। इस जीत के साथ यिंग ने एक बार फिर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। वहीं सिंधु का मलेशिया मास्टर्स में सफर समाप्त हो गया है। सिंधु की यह ताई से लगातार सातवीं हार है।

दोनों खिलाड़ियों के बीच अबतक खेले गए 22 मैचों में यह सिंधु की 17वीं हार है। दो बार की ओलंपिक पदक विजेता सिंधु टोक्यो 2020 सेमीफाइनल में ताई त्जु यिंग से हार गई थीं। दोनों के जीत हार का रिकॉर्ड भी 17-5 के बड़े अंतर से यिंग के पक्ष में है।