नई दिल्ली
महाराष्ट्र में आया सियासी भूचाल आखिर थम गया है, लेकिन महाराष्ट्र के बाद पंजाब में सियासी हलचल शुरू हो गई हैं। दरअसल, मीडिया रिपोर्ट्स का दावा है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अगले हफ्ते में औपचारिक रूप से बीजेपी ज्वॉइन करने वाले हैं। इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, कैप्टन अमरिंदर सिंह फिलहाल लंदन में हैं और अगले हफ्ते उनके भारत लौटने की संभावना है। उनके भारत आने के बाद ही उनकी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का विलय बीजेपी में होने की संभावना है।   अनुसार, कैप्टन अमरिंदर सिंह स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के चलते लंदन इलाज के लिए गए हुए हैं और अगले हफ्ते उनके भारत लौटने की संभावना है। सूत्रों से यह जानकारी है कि भारत लौटने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ना सिर्फ खुद औपचारिक तौर पर बीजेपी में शामिल होंगे, बल्कि अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का विलय भी बीजेपी में कराएंगे। बता दें कि कैप्टन ने पिछले साल विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस छोड़ने के बाद नई पार्टी का गठन किया था और बीजेपी के साथ मिलकर वो चुनाव लड़े थे।

कैप्टन के कई करीबी जा चुके हैं बीजेपी में
आपको बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह से पहले उनके कई करीबी नेता कांग्रेस छोड़ने के बाद बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। इनमें पंजाब प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष (पीपीसीसी) और राज्य मंत्री सुनील जाखड़ और कैप्टन के मंत्रिमंडल के चार शीर्ष मंत्री – राज कुमार वेरका, माझा के एक दलित नेता, पीपीसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष सुंदर शाम अरोड़ा और बलबीर सिंह सिद्धू और गुरप्रीत शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी के सामने अभी सबसे बड़ी चुनौती यह है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी और पटियाला से कांग्रेस सांसद परनीत कौर को कैसे समायोजित किया जाए। बताया जा रहा है कि परनीत कौर चाहती हैं कि बीजेपी उनकी बेटी जय इंदर कौर को पटियाला से लोकसभा का टिकट देने का वादा करे। वहीं बीजेपी नेतृत्व अभी इस बात से खुश नहीं है कि परनीत कौर ने अभी तक कांग्रेस नहीं छोड़ी है। वहीं बीजेपी इस बात के लिए भी इच्छुक नहीं है कि जय इंदर कौर को पटियाला से टिकट दिया जाए।