चंडीगढ़
पंजाब में सिद्धू मूसेवाला के संदिग्ध हत्यारों और पुलिस के बीच मुठभेड़ चल रही है। इस बीच आसपास के लोगों को पुलिस ने घरों के अंदर ही रहने को कहा है ताकि वे किसी भी तरह की दुर्घटना का शिकार न होने पाएं। यह मुठभेड़ अमृतसर जिले में पाकिस्तान की सीमा से लगे चिचा भकना गांव में चल रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक पुरानी हवेली में ये गैंगस्टर छिपे हुए हैं। कहा जा रहा है कि ये तीन गैंगस्टर थे, जिनमें से एक को पुलिस ने मार गिराया है। चिचा भकना गांव से पाकिस्तान की सीमा महज 100 मीटर की ही दूरी पर है। ऐसे में इस बात की भी आशंका है कि ये गैंगस्टर पाकिस्तान में घुस सकते हैं। ऐसे में पुलिस ने 2 किलोमीटर के इलाके को पूरी तरह से घेर लिया है।

आम लोगों से घरों में ही रहने की अपील की गई है और आसपास के इलाकों में स्नाइपर्स को तैनात किया गया है। बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है और चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है। मौके पर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी पहुंच गए हैं। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इन गैंगस्टर्स के इलाके में छिपे होने की जानकारी मिली थी, जिनकी तलाश में ऑपरेशन चलाया जा रहा था। इसी बीच इन गैंगस्टर्स की ओर से पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी गई, जिसके जवाब में फोर्स ने भी कार्रवाई की। गैंगस्टर्स की फायरिंग मे ंदो पुलिस अफसर भी जख्मी हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए अमृतसर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सरेंडर की अपील करने पर पुलिस पर ही शुरू कर दी फायरिंग
पुलिस सूत्रों का कहना है कि जिन गैंगस्टर्स को पुलिस ने घेरा है, उनमें जगरूप सिंह रूपा और मनप्रीत सिंह उर्फ मन्नू कुसा शामिल हैं। इन दोनों पर सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल होने का शक है। हत्या के बाद से ही ये दोनों लोग फरार थे। पुलिस ने एनकाउंटर से पहले इन लोगों से सरेंडर की अपील की थी, लेकिन इन्होंने पुलिस पर ही हमला बोल दिया। पुलिस की ओर से पहले ही आशंका थी कि गैंगस्टर उस पर हमला बोल सकते हैं। ऐसे में एहतियात के तौर पर पहले ही बड़ी संख्या में फोर्स लेकर पुलिस पहुंची थी। गौरतलब है कि गायक शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा गांव में कुछ लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।