नूंह
 हरियाणा में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं। उन्हें पुलिस और कानून-व्यवस्था का कोई डर नहीं है। नूंह में खनन रोकने के लिए दल-बल के साथ पहुंचे डीएसपी की हत्या कर दी गई है। अवैध खनन की जानकारी मिलने पर उसे रोकने के लिए मौके पर पहुंचे थे लेकिन खनन माफिया के लोगों ने डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई पर डंपर चढ़ाकर उन्हें मार डाला। डीएसपी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। घटना के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है।

इसी साल रिटायर होने वाले थे डीएसपी
आरोपियों को दबोचने के लिए तलाशी अभियान चला रही है। खनन मंत्री मूलचंद्र शर्मा ने कहा है कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। मंत्री ने कहा कि नूंह में खनन पर पुलिस कार्रवाई करती रही है। डीएसपी इसी साल रिटायर होने वाले थे। हरियाणा पुलिस ने अपने ट्वीट में कहा है कि वह दोषियों को नहीं बख्शेगी। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए डीएसपी को इंसाफ दिया जाएगा। हरियाणा पुलिस ने डीएसपी के परिवार के साथ अपनी संवेदना जताई है। अवैधन खनन की सूचना मिलने पर पुलिस अधिकारी दिन के करीब 12 बजे अपने दल बल के साथ मौके पर पहुंचे थे।

सख्त कार्रवाई की जाएगी-डीजीपी
खनन का यह इलाका पठारी है और यहां अवै
ध खनन होता आया है। यहां खनन का ठेका मिलता है लेकिन ठेकेदार सीमा से बाहर जाकर अवैध खनन करते हैं।  पुलिस की तरफ से कहा गया है कि वह जल्द ही दोषियों को पकड़ लेगी। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें बनाई गई हैं। हत्या की इस जघन्य घटना पर राज्य के गृह मंत्री अनिल विज का अभी बयान नहीं आया है। हरियाणा के डीजीपी पीके अग्रवाल ने कहा है कि हत्या में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खट्टर पर हमलावर हुए पूर्व सीएम
डीएसपी सिंह कुरूक्षे के रहने वाले थे। इनकी हत्या पर राज्य के पूर्व सीएम भूपिंदर सिंह हुड्डा ने खट्टर सरकार ने निशाना साधा है। हुड्डा ने कहा कि पुलिस अधिकारी की हत्या खनन माफिया ने की है। हुड्डा ने भाजपा सरकार पर खनन माफियाओं को राजनीतिक संरक्षण देने का आरोप लगाया। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी भाजपा सरकार पर हमला बोला है।

जानकारी के मुताबिक, सीआईए इंचार्ज सुरेंद्र सिद्धू की टीम व आरोपियों में मुठभेड़ हुई थी. आरोपियों को पकड़ने की कार्रवाई के दौरान यह एनकाउंटर हुआ था.

नूंह पुलिस ने बताया था कि तावडू (मेवात) के DSP सुरेंद्र सिंह बिश्नोई नूंह में अवैध खनन की घटना की जांच के लिए गए थे, जिनकी डम्पर चालक ने कुचलकर हत्या कर दी गई. चंडीगढ़ ADGP (कानून-व्यवस्था) संदीप खिरवार का भी इसपर बयान आया था. उन्होंने कहा था कि घटना के वक्त चार पुलिसकर्मी DSP के साथ थे.

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने इसपर कहा था कि हम शहीद सुरेंद्र सिंह के परिवार को 1 करोड़ रुपये की सहायता राशि देंगे. उनके परिवार से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी भी मिलेगी. DSP के छोटे भाई अशोक मंजू का भी बयान आया था. वह बोले कि मैंने उनसे आज ही बात की थी. वह इसी साल सेवानिवृत्त होने वाले थे. उनके दो बच्चे हैं.