लखनऊ
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जुलाई में दो बार उत्तर प्रदेश का दो बार दौरा करेंगे। उनका दो दौरा एक पखवारे यानी पन्द्रह दिन के अंदर ही होगा। इससे पहले प्रधानंमत्री तीन जून को लखनऊ व कानपुर और 16 मई को उत्तर प्रदेश के तीन जिलों के दौरे पर आए थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जुलाई में उत्तर प्रदेश के दो दौरों में पहले सात जुलाई को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचेंगे। वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करीब 1200 करोड़ के 13 प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास करेंगे। इसके साथ 595 करोड़ की 33 परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे।

पीएम मोदी के वाराणसी दौरे को लेकर प्रशासन ने 1812.11 करोड़ रुपये की योजनाओं की लिस्ट जारी की है। इसमें 1220.58 करोड़ रुपये की 13 योजनाओं का शिलान्यास और 591.53 करोड़ की 32 परियोजनाओं का लोकार्पण शामिल है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी में नई शिक्षा नीति पर रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर सिगरा में तीन दिवसीय राष्ट्रीय शिक्षा सम्मलेन का प्रधानमंत्री शुभारंभ करेंगे। इसके बाद संपूर्णानंद सिगरा स्टेडियम पुर्ननिर्माण कार्य फेज वन की नींव रखने के साथ परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास के साथ ही साथ जनता को भी संबोधित करेंगे। पीएम मोदी के आगमन को देखते हुए सभी विभागों को सतर्क किया गया है। लोक निर्माण विभाग को पंडाल बनाने समेत अन्य कार्यों के टेंडर आदि को फाइनल करने तक का निर्देश दिया जा चुका है।

पीएम मोदी का जालौन दौरा
पीएम नरेन्द्र मोदी 13 जुलाई को जालौन में बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का लोकार्पण करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी 296. 07 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को जनता को समर्पित करेंगे। उनका जालौन में एक्सप्रेस वे के लोकार्पण का कार्यक्रम है। प्रधानमंत्री ने भी इसका शिलान्यास भी किया था। उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) ने इसको लेकर तैयारियां प्रारंभ कर दी हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे भरतकूप के पास ग्राम गोंडा चित्रकूट में झांसी इलाहाबाद राजमार्ग से प्रारंभ होता है।

इटावा की तहसील ताखा के ग्राम कुदरेल के पास आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे में मिलता है। इस एक्सप्रेस वे पर चार स्थानों पर फ्यूल पंप स्थापित करने की कार्रवाई प्रक्रिया में है। पीएम मोदी के इस कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक तथा औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल नंदी भी मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर यहां पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का लोकार्पण किया था। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का लोकार्पण की तरह भी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे लोकार्पण की तरह भव्य समारोह में होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जुलाई में दो दौरों को वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा के चुनाव को लेकर भाजपा की तैयारी के रूप में भी देखा जा रहा है।