नई दिल्ली । प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी साल 2022 की शुरुआती विदेश यात्रा संयुक्त अरब अमीरात(यूएई) से कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, पीएम नरेंद्र मोदी जनवरी में यूएई का दौरा कर सकते हैं। ऐसी संभावना है कि इस यात्रा का उद्देश्य दोनों देशों के रिश्तों को और मजबूत करने के लिए किया जाएगा। मुख्य रूप से यात्रा का केंद्र बिंदु दुबई एक्सपो के आसपास केंद्रित होने की संभावना है। पिछले कुछ वर्षों में संयुक्त अरब अमीरात के साथ भारत के संबंधों में काफी सुधार आया है।

सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रस्तावित यात्रा की तारीखों को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है। लेकिन संभावना है कि जनवरी माह में पीएम यूएई का दौरा कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि दोनों देश अगले साल की पहली छमाही तक एक व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौते को मजबूत करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं। जिससे व्यापार और निवेश संबंधों को काफी बढ़ावा मिलने की उम्मीद है।

अपने बढ़ते रणनीतिक संबंधों के परिपेक्ष्य में भारत और संयुक्त अरब अमीरात हाल ही में एक नए चार-राष्ट्र समूह का हिस्सा बने हैं। जिसके व्यापार और निवेश से संबंधित मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने की उम्मीद है। इसमें अन्य दो सदस्य देश अमेरिका और इजरायल हैं। बता दें कि अगस्त में संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान के राजनयिक सलाहकार अनवर गर्गश ने भारत का दौरा किया था।

पिछले साल दिसंबर में थल सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे ने संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा की। यह भारतीय सेना के प्रमुख द्वारा प्रभावशाली खाड़ी देश की पहली यात्रा थी। वहीं, जुलाई में तत्कालीन वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने देश के साथ भारत के बढ़ते रणनीतिक संबंधों को आगे बढ़ाते हुए संयुक्त अरब अमीरात का दौरा किया था।