लंदन

इंग्लैंड में गर्मी ने रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बनाने शुरू कर दिए हैं। चिलचिलाती धूप ने लोगों की हालत खराब कर रही है। इतिहास में पहली बार इतनी गर्मी यूके में देखने को मिली है। समर सीजन में इतनी गर्मी इंग्लैंड में नहीं होती है, लेकिन जुलाई के महीने में पारा 40 डिग्री सेल्सियस के आस-पास हर दिन दर्ज किया जा रहा है, जिसकी बानगी इंग्लैंड बनाम साउथ अफ्रीका मैच के दौरान भी देखने को मिली।

चेस्टर-ले-स्ट्रीट में मंगलवार 19 जुलाई को इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए पहले वनडे मैच में हर किसी की जुबां पर एक ही बात थी कि गर्मी बहुत है। साउथ अफ्रीका के खिलाड़ियों को तो ये भी कहते सुना गया कि हम इतनी धूप सहने के आदी हैं, लेकिन यहां बहुत ज्यादा गर्मी है। आमतौर पर इंग्लिश क्रिकेट समर सीजन में इतनी गर्मी नहीं होती, लेकिन इस बार गर्मी ने पसीने छुड़ाए हुए हैं।

पहले वनडे मैच के दौरान साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड के खिलाड़ियों को बर्फ के साथ सिर की सिकाई करते देखा गया, जब गेंदबाज हर एक ओवर के बाद पानी मांगते नजर आए। हर खिलाड़ी चाहता था कि जल्दी से जल्दी ड्रिंक्स ब्रेक हो तो वे राहत की सांस लें। बल्लेबाज भी समय-समय पर पानी मंगाते दिखाई पड़ रहे थे। इतना ही नहीं, ड्रिंक्स ब्रेक के दौरान छाता भी खिलाड़ियों के लिए लाए गए और बड़े स्क्रीन पर सन सेफ्टी की वॉर्निंग भी नजर आई।