लखनऊ
चिलचिलाती धूप और उमस भरी भीषण गर्मी से उत्तर प्रदेश के लोगों को जल्द राहत मिलने की उम्मीद है। मौसम विज्ञान केंद्र लखनऊ के मुताबिक, आज से अगले तीन दिनों तक उत्तर प्रदेश के 32 जिले में आंधी के साथ भारी बारिश हो सकती है। हालांकि, पश्चिमी यूपी को अभी मानसून बारिश के लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, अलीगढ़, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, मथुरा और हाथरस में उमस के साथ भीषण गर्मी से लोगों को परेशान का सामना करना पड़ सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के सोनभद्र, गाजीपुर, वाराणसी, गोरखपुर, जौनपुर, मिर्जापुर, प्रयागराज, प्रतापगढ़, अमेठी, रायबरेली, बांदा, चित्रकूट, बस्ती, लखीमपुर खीरी, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, आजमगढ़, अम्बेडकर नगर, मऊ, कौशाम्बी, संतकबीर नगर, वाराणसी, सुल्तानपुर, चंदौली, देवरिया, श्रावस्ती में मूसलाधार बारिश की संभावना है। तो वहीं, लखनऊ, कानपुर, उन्नाव, झांसी, हरदोई, सीतापुर में कहीं-कहीं बारिश हो सकती है। इससे पहले राजधानी लखनऊ में सोमवार को बारिश हुई थी।

वहीं, मौसम विभाग के निदेशक डॉ. जेपी गुप्ता ने बताया कि 28 जून को मानसून के दस्तक देने की संभावना बनी हुई है। गोरखपुर सहित आस-पास के इलाकों में बारिश हो सकती है। वहीं, बंगाल की खाड़ी से नम हवाओं का झोंका मजबूत हुआ है। इसने सूखी पछुआ हवाओं को पीछे धकेल दिया है। ऐसे में मानसून आगे बढ़ने लगा है। मंगलवार से अच्छी बारिश के आसार बन रहे हैं। जुलाई के पहले हफ्ते से यूपी में मानसून पूरी तरह सक्रिय हो जाएगा। इसके बाद हर जिले में बारिश होगी।

मौसम विभाग के अनुसार लखनऊ में भी अगले तीन दिनों तक रुक-रुककर बारिश हो सकती है। हालांकि पश्चिमी यूपी को अभी मानसून बारिश के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक, अलीगढ़, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, मथुरा और हाथरस में उमस के साथ लोगों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ सकता है। मौसम विज्ञानी ने बताया कि जिन जिलों में बारिश के आसार कम हैं, वहां बादलों की आवाजाही बनी रहेगी। इससे लोगों को कड़ी धूप से थोड़ी राहत जरूर मिलेगी।