नई दिल्ली

भारत सरकार ने नीति आयोग के सीईओ (CEO) के नाम का ऐलान कर दिया है। सरकार ने उत्तर प्रदेश कैडर के 1981 बैच के आईएएस अधिकारी और जाने-माने स्वच्छता विशेषज्ञ परमेश्वरन अय्यर को नीति आयोग के CEO के रूप में चुना है। दरअसल 30 जून को नीति आयोग के वर्तमान CEO का कार्यकाल खत्म हो रहा है, जिसके बाद परमेश्वरन अय्यर नीति आयोग के सीईओ की जिम्मेदारी संभालेंगे। उनका कार्यकाल 2 साल तक रहेगा।

नीति आयोग के नए CEO परमेश्वरन अय्यर
आपको बता दें कि 2016 में नीति आयोग के वर्तमान सीईओ अमिताभ कांत को सीईओ नियुक्त किया गया था। इसके बाद से लगातार उनका कार्यकाल 3 बार बढ़ाया जा चुका है, जो अब 30 जून को खत्म हो रहा है। वर्तमान सीईओ अमिताभ कांत केरल कैडर के 1980 बैच के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी हैं।

उत्तर प्रदेश में मायावती सरकार के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में कर चुके हैं काम
63 साल के परमेश्वरन अय्यर इससे पहले अप्रैल 1998 और फरवरी 2006 के बीच संयुक्त राष्ट्र में वरिष्ठ ग्रामीण जल स्वच्छता विशेषज्ञ के रूप में काम कर चुके हैं। इसके साथ ही अय्यर ने उत्तर प्रदेश में मायावती सरकार के साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी काम किया है।

स्वच्छ भारत मिशन के लिए कर चुके हैं काम
इससे पहले परमेश्वरन अय्यर भारत सरकार के साथ 2016 में स्वच्छ भारत मिशन के लिए काम कर चुके हैं। उन्होंने लंबे समय तक इस मुहिम में काम किया और सरकार को अपने सुझाव भी दिए। इसके बाद अय्यर ने जल शक्ति मंत्रालय के साथ भी काम किया।

नीति आयोग क्या काम करता है
केंद्र की मोदी सरकार की तमाम योजनाओं को पूरा करने में नीति आयोग का अहम योगदान रहता है। नीति आयोग का गठन 1 जनवरी 2015 में केंद्रीय मंत्रिमंडल के द्वारा किया गया था, जिसका उद्देश्य सरकार नीतिगत और दिशात्मक इनपुट देना है। नीति आयोग केंद्र के साथ-साथ राज्य सरकारों को भी सलाह प्रदान करता है।