इस्लामाबाद
पाकिस्तान में एक बार फिर कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। पाकिस्तान ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार, पाकिस्तान ने पिछले 24 घंटों में 818 नए कोरोना ​​मामले दर्ज किए हैं, जिससे देश भर में कुल मरीजों की संख्या 1,538,622 हो गई है। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से सिर्फ एक मरीज ने दम तोड़ दिया है। इसके साथ ही मरने वालों की संख्या अब 30,403 पहुंच गई है।

मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार-
पाकिस्तान में कोविड​​​​-19 से अब तक कुल 30,403 लोगों की मौत दर्ज हुई है, जबकि पिछले 24 घंटों में एक की मौत रिपोर्ट की गई। पाकिस्तान में ​​​​कोविड-19 के लिए 17,150 परीक्षण किए गए, जबकि सकारात्मकता दर 4.69 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों में 1 मौत हुई तो वहीं गंभीर देखभाल वाले मरीजों की संख्या 168 रही।

पाकिस्तान में कोरोनोवायरस की एक नई लहर की आशंका
पाकिस्तान का कोरोनावायरस सकारात्मकता अनुपात 4.69 प्रतिशत है, जो पिछले साढ़े चार महीनों में सबसे अधिक है। जियो टीवी ने बताया कि आखिरी उच्चतम सकारात्मक दर 18 फरवरी को था जब देश में सकारात्मकता दर 4.92 प्रतिशत दर्ज की गई थी। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोनोवायरस की एक नई लहर की आशंका के बीच, विशेषज्ञों ने शहरों में मास्क पहनने को अनिवार्य करने की मांग की।

टेस्टिंग और बूस्टर पर दिया जोर
विशेषज्ञों ने कोरोना पर निगरानी रखने, टेस्टिंग और बूस्टर पर जोर देने के साथ टीकाकरण और बढ़ते जोखिम के बारे में विशेष रूप से शहरी सेटिंग्स में संचार के माध्यम से सतर्क निगरानी पर जोर देने की सलाह दी है।

कोविड -19 दिशानिर्देश में न हो कोई भी बदलाव
पाकिस्तान वर्तमान में COVID-19 मामलों में एक नया उछाल देखने को मिल रहा है और इसके बीच देश के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (CAA) ने देश में मास्क पहनने पर जोर दिया है साथ ही तत्काल प्रभाव से घरेलू उड़ानों के लिए मास्क फिर से अनिवार्य करने का निर्देश दिया हैं। सीएए की एक अधिसूचना के अनुसार, सभी संबंधित तिमाहियों को नए आदेश का अनुपालन सुनिश्चित करना चाहिए। अधिसूचना में कहा गया है कि घरेलू हवाई यात्रा पर अन्य कोविड -19 दिशानिर्देश में कोई भी बदलाव न हो। डॉन के साथ बात करते हुए, स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ जावेद अकरम ने कहा था कि वायरस एक 'रोलर कोस्टर' की तरह व्यवहार कर रहा है। अकरम ने कहा, 'देश कुछ वर्षों तक इसी तरह की स्थितियों का सामना करेगा।' अकरम ने कहा कि वायरस को रोकने के लिए प्रतिबंधों को वापस लागू कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन उपायों से मौजूदा ऊर्जा संकट से लड़ने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि लोगों को टीकाकरण के लिए जाना चाहिए और जो पहले से ही प्रतिरक्षित हैं उन्हें बूस्टर शॉट लगवाने चाहिए।