डिंडोरी
जिला रोजगार कार्यालय द्वारा तकनीकी शिक्षा कौशल विकास रोजगार विभाग के माध्यम से रोजगार मेले का आयोजन कलेक्ट्रेट ऑडिटोरियम  मैं किया गया शासकीय आईटीआई प्राचार्य  रमेश मरावी जिला रोजगार अधिकारी के दायित्व में अपने उद्बोधन में कहा कि रोजगार मेले का उद्देश्य जिले में खेल रही बेरोजगारी को मिटाने के लिए तथा युवाओं को जीवन की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए किया गया शहरी आजीविका मिशन से सिटी मैनेजर श्रीमती श्वेता तिवारी अपने उद्बोधन में बताया कि रोजगार मूलक योजनाओं को महत्व देते हुए शहरी आजीविका मिशन ही छोटे-छोटे लोन देकर लोगों को जीविका उपार्जन लिख के लिए प्रेरित करती है प्रत्येक उद्योग को स्थापित करने के लिए पूंजी की आवश्यकता होती है जिस हेतु लाभार्थी बैंकों के माध्यम से लोन लेते अपग्रेड बैंक मैनेजर  मोहन चौहान ने अग्रणी बैंक का की भूमिका को स्थापित करते हुए बताया कि डिंडोरी प्राकृतिक संसाधनों से भरा हुआ क्षेत्र है यहां रोजगार के नए आयामों को प्रशस्त किया जा सकता है जिला एवं व्यापार उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक श्री वरकड़े जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि जब भी आप मेक इन इंडिया का मोनो जिस पर मैकेनिकल शेर बना हुआ है उन्होंने कहा जब भी कोई उद्योग स्थापित करता है उसको शेर की तरह साहसी होना चाहिए जन शिक्षा संस्थान के निदेशक  दिवाकर द्विवेदी ने जन शिक्षण संस्थान का संक्षिप्त परिचय देते हुए बताया कि देश की खुशहाली और तरक्की के लिए वहां की युवाओं का देश की आर्थिक एवं सामाजिक विकास के लिए योगदान आवश्यक है भारत के पास एक अतुलनीय युवा जनसंख्या है हमारे देश में अभी भी करीब 60.5 करोड़ लो युवा है रोजगार के उपयुक्त कौशल प्राप्त कर आबादी का यह युवा हिस्सा परिवर्तन का प्रतिनिधि हो सकता है जिससे लाभार्थियों का विकास विकास के लिए बहुमुखी प्रतिभा निखरती है मंच का सफल संचालन सुनील झारिया ने किया तथा चल रहे स्वच्छता पखवाड़ा को ध्यान में रखते हुए सुनील झारिया ने सभी लाभार्थी एवं अतिथियों के मध्य स्वच्छता की शपथ दिलाई इस अवसर पर विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों से बेरोजगार युवा जिला एवं रोजगार कार्यालय के समस्त कर्मचारी अधिकारी शासकीय आईटीआई के समस्त कर्मचारी एवं अधिकारी तथा जन शिक्षण संस्थान के समस्त कार्यक्रम अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे.